इंटरनेट क्या है ? इंटरनेट का उपयोग, इंटरनेट का महत्व – History of internet in Hindi | What is Internet in Hindi

0 0
Read Time:9 Minute, 40 Second

Internet Kya Hai , What is Internet in Hindi , History of internet in Hindi , internet kya hota hai , History of Internet in Hindi , Benifits of internet , loss of internet , uses of internet in Hindi , use of internet , essay on internet , internet kya hai essay , internet full form , history of internet

इंटरनेट क्या है ? Internet kya Hai

इंटरनेट का अर्थ :- इंटरनेट दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है Inter और net । Inter का अर्थ है एक दूसरे से जुड़ा हुआ और Net का अर्थ है जाल । अर्थात इंटरनेट एक ऐसा जाल है जहाँ लोग फंसे हुए हैं।

What is Internet in Hindi

इंटरनेट जनसंचार का सबसे तेजी से लोकप्रिय होता माध्यम है। या कह सकते हैं कि लोगों की सफलता के पीछे आज इंटरनेट की महत्वपूर्ण भूमिका है। इंटरनेट एक वैश्विक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया के कंप्यूटरों को एक साथ जोड़ता है। दूसरे आसान शब्दों में सूचनाओं को आदान – प्रदान के लिए TCP / IP protocol से दो कंप्यूटरों के बीच संबंध को इंटरनेट कहते हैं। इंटरनेट एक इंग्लिश शब्द है जिसे हिन्दी में ” अंतरजाल या महजाल ” कह सकते हैं। आधुनिक समय में इंटरनेट एक बहुत ही शक्तिशाली और दिलचस्प माध्यम बनता जा रहा है। ये नेटवर्कों का नेटवर्क है और कई सारी सेवाओं तथा संसाधनों का समूह है, जो हमें कई प्रकार से लाभ पहुंचाता है। इसक इस्तेमाल से हम लोग कहीं से भी वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग कर सकते हैं। कंप्यूटर नेटवर्क के अनेकों रूप है , जिनमें से कुछ प्रमुख हैं एल. ए. एन , इंटरनेट एवं इंट्रानेट।

साधारणतय: कंप्यूटर को टेलीफोन लाइन द्वारा इंटरनेट से जोड़ा जाता है। लेकिन इसक अतिरिक्त भी बहुत से साधन हैं, जिसमें कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़ सकता है जैसे केबल , सैटेलाइट , और वायरलैस कनेक्शन आदि सम्मलित हैं।

इंटरनेट का इतिहास एवं आविष्कार :- History of Internet in Hindi 

इंटरनेट स्वयं में कोई आविष्कार नहीं है। इंटरनेट टेलीफोन , कंप्यूटर व दूसरी तकनीक को इस्तेमाल करके बनाया गया ऐसा जाल है जिसमें सूचना व तकनीक का साझा उपयोग किया गयाहै।

इंटरनेट का आविष्कार 1969 में टिम बर्नस ली ने किया। इसकी शुरुआत 1960 में अमेरिका के रक्षा विभाग में खोज के कार्यों के लिए हुई थी। प्रारंभ में इसे ARPANET नाम दिया गया जिसका पूरा नाम (Advanced Research Project Agency Network) था। यह नेटवर्क मुख्य रूप से प्रायोगिक था। यह नेटवर्क टेक्नोलॉजी के विकास के लिए बनाया गया।

ARPANET का मुख्य उद्देश्य था की नेटवर्क का कोई भाग यदि काम करना बंद कर दे तब भी नेटवर्क चालू रहे। ARPANET दुनिया का पहला ऐसा इंटरनेट कनेक्शन बन गया जिसमें TCP/IP प्रोटोकाल यानी इंटरनेट रूल लागू किया गया। TCP का पूरा अर्थ ( Transmission Control Protocol ) और IP का पूरा अर्थ (Internet Protocol) है ।

What is Internet in Hindi

WWW का अर्थ :-

WWW का पूरा नाम वर्ल्ड वाइड वेब है। इसका आविष्कार टिम बर्नस ली ने किया था। इस नेटवर्क से दुनिया के सारे नेटवर्क कनेक्ट होने लगे। WWW की सफलता के बाद इसमें लगातार विस्तार किये गए और आज इंटरनेट का विस्तार रूप मौजूद है। आज कंप्यूटर के साथ साथ स्मार्टफोन, टी वी, टैब, कैमरा आदि चीजों को इंटरनेट से जोड़ दिया गया है।

विविध क्षेत्रों में इंटरनेट का महत्त्व :-

इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है जिसमें प्रिंट, रेडियो, मीडिया, टीवी, सिनेमा, किताब यहाँ तक कि पुस्तकालय के सारे गुण विद्यमान हैं। इसकी पहुँच दुनिया के कोने कोने तक है। इसकी रफ्तार का कोई जवाब नहीं है। इसमें अनेक माध्यमों का समागमन है। इंटरनेट विश्वव्यापी जाल है। इसक भीतर करोड़ों पन्नों की सामग्री है। इसमें पल भर में अपने मतलब की सामग्री निकाल सकते हैं।

इंटरनेट के लाभ व हानि:-

इंटरनेट के लाभ –

(1) यह एक अंतर क्रियात्मक माध्यम है यानी आप इसमें मूक दर्शक नहीं हैं। आप सवाल जवाब कर सकते हैं। बहस में भाग ले सकते हैं और मन हो तो अपना मन पसंद ब्लॉग बना कर इंटरनेट पर डाल सकते हैं।

(2) सूचना भेजना और प्राप्त करना :-

आज हम इंटरनेट की सहायता से सुदूर बैठे हुए अपने किसी भी मित्र, रिश्तेदार या परिवार को संदेश भेज सकते हैं और प्राप्त भी कर सकते हैं। इंटरनेट ने लोगों के बीच की दूरी को कम कर दिया है। आज हम इंटरनेट पर voice call, voice massage, E- mail, video call आदि कर सकते हैं ।

(3) ऑनलाइन शॉपिंग की सुविधा :-

इंटरनेट के माध्यम से अब लोग घर बैठे अपनी पसंद का अपने इस्तेमाल का जरूरत का सामान खरीद सकते हैं। और चाहें तो अपने दोस्त , परिवार और रिश्तेदारों को गिफ्ट भेज सकते हैं। लोगों को बार – बार दुकान जाने की आवश्यकता नहीं है।

(4) व्यापार को बढ़ावा :-

इंटरनेट द्वारा हम घर बैठे आसानी से अपने व्यापार को फैला सकते हैं । विश्व की सभी कंपनियां online advertising और वेबसाइट के माध्यम से अपने व्यापार को विश्व में फैला सकती हैं।

(5) नौकरियों की जानकारी तथा आवेदन करना-

इंटरनेट की सहायता से अब नौकरियों के लिए आवेदन तथा जानकारी प्रदान कम भी बहुत आसान हो गया है। आज हम घर बैठे जॉब पोर्टल के माध्यम से हम हर बैठे नौकरियों के बारे में जान सकते हैं।

इंटरनेट से हानि :-

इंटरनेट ने एक ओर जहाँ मानव को विश्व पटल से परिचित कराया वहीं दूसरी ओर इसको अजीब तथा हिंसक भी बनाया । इंटरनेट से हानि को इन बिंदुओं के माध्यम से समझा जा सकता है।

(1) समय की बर्बादी होती है :-

इंटरनेट को समय का ख्याल रखते हुए उपयोग करना चाहिए । इंटरनेट पर लोग काम के अलावा भी घंटों बर्बाद करते देते हैं।

(2) स्वास्थ्य पर बुरा असर :-

इंटरनेट का स्वास्थ्य पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। कई लोग ऐसे होते हैं जो घंटों एक ही जगह पर पर बैठकर इंटरनेट चलाते हैं जिससे उनकी आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है तथा लगातार एक जगह पर बैठने से कई परेशानियाँ भी उत्पन्न हो सकती है, व स्वास्थ सम्बन्धी दिनचर्या भी खराब होती है।

(3) इंटरनेट का चार्ज :-

इंटरनेट का कनेक्शन हमें तभी लेना चाहिए जब हमें इसकी आवश्यकता हो। क्योंकि इंटरनेट प्रदान करने वाली कंपनियां इंटरनेट का कुछ ना कुछ चार्ज जरूर लेती हैं। अत: इसका उपयोग सार्थक रूप से करना चाहिए।

(4) शोषण,अश्लीलता एवं हिंसकता को बढ़ावा:-

इंटरनेट पर संचार की तीव्र गति है। कई बार लोग इसका प्रयोग लोगों का शोषण करने हिंसकता व अश्लीलता फैलाने के रूप में करते हैं तथा समाज में दूषित माहौल फैलाते हैं , जोकि सर्वथा अनुचित है।

(5) स्पैम ई – मेल और विज्ञापन का गलत प्रयोग :-

इंटरनेट से कई बार लोगों की जानकारियां तथा ईमेल आदि को चुराकर विभिन्न कंपनियां लोगों की निजी जिंदगी में दखल देती हैं तथा ठगी का शिकार करती हैं।

निष्कर्ष:-

इंटरनेट की विशेषताओं को देखते हुए कहा जा सकता है कि इंटरनेट उपयोगी है । यदि मानव विवेक से काम ले और इंटरनेट का सही इस्तेमाल करे तो यह मानव के लिए वरदान है।

internet से संबंधित जानकारी :-

नमस्कार दोस्तों आप इस पोस्ट में What is Internet in Hindi से संबंधित सारी जानकारी पढा Himdime आशा करता हूं कि जानकारी बिल्कुल स्पष्ट हुआ हो । धन्यवाद टीम – CAREER JANKARI

About Post Author

Akansha Singh

I'm Akansha Singh , Content writer on careerjankari.in . Now I'm working with Career Jankari .
Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Akansha Singh

I'm Akansha Singh , Content writer on careerjankari.in . Now I'm working with Career Jankari .

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply