NEET 2019: यूं करें NTA नीट की तैयारी, क्रैक होगा एग्जाम, पढ़ें ये Tips

NEET 2019: नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का नोटिफिकेशन जारी हो चुका है। परीक्षा कराने की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) पर है। आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन है तथा इस दौरान उम्मीदवार को अपनी पहचान से संबंधित एक प्रमाणपत्र अपने साथ रखना होगा।
योग्यता से संबंधित विवरण :-
नीट (यूजी) में वही छात्र बैठ सकते हैं, जिन्होंने किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से बारहवीं की परीक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायोलॉजी विषय के साथ 50 प्रतिशत अंकों के साथ पास कर ली हो। इस साल बारहवीं की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र भी इस परीक्षा में बैठ सकते हैं। साथ ही वे 17 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके हों और 25 साल से उम्र ज्यादा न हो। आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को आयु-सीमा में छूट है।
ये सर्टिफिकेट होंगे मान्य
उम्मीदवारों के पास आधार कार्ड, इलेक्शन कार्ड, राशन कार्ड, बैंक अकाउंट, पासपोर्ट में से कोई एक प्रमाण होना चाहिए। आवेदन के समय इनमें से किसी एक की जरूरत पड़ती है। आधार कार्ड या पासपोर्ट के अंतिम चार अंक भरने होते हैं।
परीक्षा से जुड़ी जानकारी :-
नीट में उम्मीदवारों से तीन सेक्शनों के अंतर्गत180 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके लिए तीन घंटे का समय निर्धारित किया गया है। परीक्षा के अंतर्गत फिजिक्स (45), केमिस्ट्र्री (45) व बायोलॉजी (90) विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं। बायोलॉजी के सेक्शन में जूलॉजी (45) व बॉटनी (45) से प्रश्न पूछे जाते हैं। सभी प्रश्नों के चार विकल्प दिए होते हैं। उनका स्वरूप बहुविकल्पीय होता है। प्रश्नों का माध्यम हिन्दी व अंगे्रजी दोनों होता है। प्रत्येक प्रश्न के लिए चार अंक निर्धारित हैं।
बारहवीं स्तर के होंगे प्रश्न
पेपर में प्रश्न हिन्दी व अंग्रेजी दोनों ही माध्यम में पूछे जाएंगे। उम्मीदवार जिस माध्यम का सहारा ले रहे हैं, उसका विवरण उन्हें फॉर्म भरते समय ही देना होता है। नीट में पूछे जाने वाले प्रश्नों का पैटर्न 11वीं व 12वीं के सिलेबस से होता है। प्रश्नों का स्वरूप ऑब्जेक्टिव होने के कारण वे कहीं से भी पूछे जा सकते हैं।
फिजिक्स के न्यूमेरिकल्स :-
मेडिकल के छात्रों को सबसे अधिक परेशानी न्यूमेरिकल्स, फिजिक्स फॉर्मूला व डायग्राम में आती है, जबकि केमिस्ट्री में ऑर्गेनिक केमिस्ट्री स्कोरिंग होती है। छात्र डायग्राम की प्रैक्टिस करते समय यह ध्यान दें कि कभी-कभी पूरा प्रश्न उसी पर आधारित होता है। फिजिक्स के फॉर्मूले अच्छी तरह से याद होने चाहिए। संभव हो तो इन फॉर्मूलों का शॉर्टकट बना लें।

केमिस्ट्री से मिल सकते हैं अच्छे अंक :-
केमिस्ट्री के प्रश्न फॉर्मूला बेस्ड होते हैं तथा इसमें अच्छी स्कोरिंग के जरिए हाई मेरिट हासिल की जा सकती है। प्रश्न ऑर्गेनिक व इन ऑर्गेनिक दोनों खंडों से आते हैं। इनमें प्रश्नों को सेमी कंडक्टर, न्यूक्लियर केमिस्ट्री, इलेक्ट्रो केमिस्ट्री, पीरियोडिक टेबल, सॉल्यूशन तथा डिस्ट्रीब्यूशन पर केंद्रित किया जाता है।.
बायोलॉजी के सेक्शन पर रहें फोकस :-
इसके अंतर्गत जूलॉजी व बॉटनी से संबंधित प्रश्न आते *हैं। प्रश्नों की संख्या लगभग समान होती है। पूछे जाने *वाले महत्वपूर्ण बिन्दुओं में इकोलॉजी, एप्लिकेशन *ऑफ बॉयोलॉजी, इम्यूनिटी सिस्टम, एनिमल किंगडम, एनिमल एवं प्लांट फिजियोलॉजी, फोटो सिंथेसिस आदि शामिल हैं।


5 अहम टिप्स :-

 

  • टाइम टेबल बनाकर अध्ययन करें
  • नेगेटिव मार्किंग से सावधान रहें
  • विशेषज्ञों के संपर्क में रहें
  • बोर्ड के स्टूडेंट विशेष सावधानी बरतें
  • परीक्षा में स्पीड का भी ध्यान रखें
    विषय प्रश्न अंक समय.
    फिजिक्स 45 180 तीन घंटे.
    केमिस्ट्री 45 180 –
    बायोलॉजी 90 360
    कुल 180 720 तीन घंटे.

ये भी पढ़ें मेडिकल कोर्सेज के बारे में (Medical course ) –

M.B.B.S ( Bachelor-of-medicine-and-bachelor-of-surgery )

B.D.S ( Bachelor of Dental Surgery )

B.A.M.S ( Bachelor-of-Ayurvedic-medicine-and-surgery)

B.H.M.S (Bachelor-of-Homeopathic-medicine-and-surgery)

B.U.M.S ( Bachelor-of-unani-medicine-and-surgery)

4 Comments on “NEET 2019: यूं करें NTA नीट की तैयारी, क्रैक होगा एग्जाम, पढ़ें ये Tips”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *