MBA में एडमिशन, करियर, स्कोप, नौकरियां Kya hai Hindi me jankari

MBA Kya hai Hindi me jankari

MBA का पूरा नाम मास्टर ऑफ़ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन ( Master of Business administration ) होता है ,आज के समय में यह पॉपुलर कोर्स है. इस कोर्स की तरफ स्टूडेंट्स बहुत ज्यादा आकर्षित होते हैं !

अगर आपको नहीं पता की Mba Kitne Saal Ka Course Hai तो बता दे की MBA 2 साल का कोर्स होता है. इसमें आपको बिजनेस व्यापार से संबंधित जानकारी दी जाती है. जिससे कि आप MBA करने के बाद बिजनेस या खुद का व्यापार कर सकते हैं।!

एम.बी.ए . ( MBA ) एक बेहद प्रतिष्ठित और सम्मानजनक क्षेत्र माना जाता है। एम.बी.ए. में हम व्यापार सम्बन्धी विभिन्न प्रबंधों के बारे में ज्ञान हासिल करते हैं। व्यापार जगत से जुड़ी हर छोटी से बड़ी जानकारी को हासिल करके हम इस क्षेत्र में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं !

आज का दौर बेहद प्रतिस्पर्धा का दौर है। हर कोई जीवन की इस दौड़ में आगे बढ़ने की इच्छा रखता है। इसलिए आगे बढने के लिए लोग बिना कुछ सोचे समझे बस एक दूसरे के पीछे लग कर अपना करियर चुन रहे हैं। जिन लोगों को एजुकेशन के क्षेत्र में नहीं जाना होता है, वे आमतौर पर एमबीए की डिग्री लेते हैं। भारत में एमबीए कोर्स छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय है।

ज्यादा से ज्यादा छात्र नामी बिजनस स्कूलों में दाखिला और आरामदेह नौकरी चाहते हैं। लेकिन, दूर से एमबीए का जॉब जितना आकर्षक लगता है, वाकई में उतना नहीं है। कई सारे लोग एेसे हैंजिन्होंने इंजीनियरिंग के बाद या तो एमबीए की डिग्री हासिल कर ली है या फिर करने के बारे में सोच रहे है।

अगर आप भी एमबीए करने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको बता रहें कुछ एेसी बातों के बारे में जिन पर ध्यान जरुरी देना चाहिए !

हम सब के मन MBA से संबंधित प्रश्नन आता ???

mba ka scope kya hai
mba kya hai hindi me jankari
mba kya hai hindi me jankari
mba ka scope kya hai
mba ka full form kya hai
mba degree kya hai
mba courses
mba colleges in india
mba course duration
???

विभिन्न MBA प्रोग्राम्स [Different MBA Programs] :-

MBA विभिन्न प्रकार के होते हैं. कैंडिडेट्स अपनी आवश्यकता, रूचि और समय की उपलब्धता के आधार पर मनवांछित कोर्स का चयन करते हैं और फिर उसी के अनुसार उनकी नौकरी लगती हैं और पैकेज भी निर्धारित होता हैं. इन विभिन्न MBA प्रोग्राम्स के नाम निम्नानुसार हैं !

2 ईयर फुल टाइम प्रोग्राम [Two – Year Full Time MBA Program],
पार्ट टाइम MBA [Part Time MBA],
इवनिंग [सेकंड शिफ्ट] MBA प्रोग्राम्स [Evening (Second Shift) MBA Programs],
मोड्युलर MBA प्रोग्राम [Modular MBA Program],
एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम [Executive MBA Program / EMBA Program]


फुल टाइम एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम [Full – time Executive MBA Program],
डिस्टेंस लर्निंग MBA प्रोग्राम [Distance Learning MBA Program],
ब्लेंडेड लर्निंग प्रोग्राम [Blended Learning Program],
MBA ड्यूल डिग्री प्रोग्राम [MBA Dual Degree Program],
मिनी MBA प्रोग्राम [Mini MBA Program]

एमबीए के लिए योग्यता (Education qualification for MBA Course) :-

ग्रेजुएशन डिग्री होनी चाहिए
ग्रेजुएशन में 50% मार्क्स होने चाहिए
एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करे
एमबीए कोर्स (MBA Course) के फिल्ड (different fields in MBA)

एमबीए में एडमिशन लेने से पहले आपको एक फिल्ड सेलेक्ट करना होता है क्यों की इसमें आपको कई कोर्स मिलते है जिसमे से आपको एक फील्ड (Field) सेलेक्ट करके इसमें एमबीए करना होता !

भारत में MBA के होने वाले कुछ टॉप एग्जाम :-

Common Admission Test (CAT)
Xavier Aptitude Test (XAT)
Common Entrance Test (CET)
Common Management Admission Test (CMAT)
Mumbai Business School Entrance Exam (MBS)


Asia Specific Institute of Management Exam (APIME)
Open Management Admission Test (IGNOU OPENMAT)
Indian Institute of Foreign Trade (IIFT)

MBA की प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क fees :-

उपरोक्त प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क सामान्यतः उनकी ऑफिशियल वेबसाइट पर देखा जा सकता हैं, परन्तु कुछ प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क नीचे दिया जा रहा हैं, जैसे -:

AIMA-MAT की फीस 1200/- हैं,
CAT की फीस 1600/- हैं,
CMAT की फीस 1400/- हो सकती हैं, आदि.

Top MBA Colleges In India :-

1) Indian Institute of Management, Ahmedabad

2) Indian Institute of Management Calcutta

3) Indian Institute of Management Lucknow

4) Faculty of Management Studies, University of Delhi

5) Management Development Institute, Gurgaon

6) Indian Institute of Management Bangalore

7) XLRI – Xavier School of Management, Jamshedpur

8) Indian Institute of Management Indore

9) National Institute of Industrial Engineering, Mumbai

10) Vinod Gupta School of Management, Indian Institute of Technology, Kharagpur

आईआईएम (Indian Institute Of Management) :-

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट बेंगलुरु
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट अहमदाबाद
XLRI जेवियर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट कलकता
FMS फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज दिल्ली
मैनेजमेंट डेवलपमेंट स्कूल Gorgon
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट लखनऊ
S. P. जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च मुंबई
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट इंदौर
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेन ट्रेड IIFT


इसके अलावा हमारे देश में बहुत सी यूनिवर्सिटी से MBA कर सकते हैं इनमें से कुछ टॉप यूनिवर्सिटी के नाम हम आपको नीचे बता रहे हैं –

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान – (आईआईटी), खड़गपुर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास – (आईआईटीएम), चेन्नई
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान – (आईआईटी), कानपुर
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान – (आईआईटी), रुड़की
मसीह विश्वविद्यालय, बंगलौर


प्रबंध अध्ययन संकाय – (एफएमएस), नई दिल्ली
टेक्नोलॉजी, कर्नाटक राष्ट्रीय संस्थान – (में एनआईटीके), सूरतकल
लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी – (एलपीयू), जालंधर
राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान – (एनआईटी), वारंगल
एलायंस विश्वविद्यालय – (एयू), बेंगलूर

MBA Ki Fees Kitni Hai :-

हर शैक्षिक संस्थान के अनुसार निर्धारित की जाती है इसीलिए अगर आप चाहे तो इसके बारे में जानकारी पाने के लिए आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है उस कॉलेज की वेबसाइट या उस कॉलेज में जाकर ही इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते है !

फीस किसी भी कॉलेज या संस्थान पर निर्भर करती है इस कोर्स की अनुमानित फीस 2,00,000 से 2,50,000 तक हो सकती है !!!

mba course full details :-

(1) फाइनांस ( Finance ) :-

एमबीए इन फाइनांस एमबीए स्‍पेशलाइजेशन का सबसे पुराना सब्‍जेक्‍ट है. इस कोर्स के दौरान आपको कॉस्टिंग, बजटिंग, इंटरेनशल फाइनांस और कैपिटल मैनेजमेंट जैसे सब्‍जेक्‍ट्स की तैयारी करवाई जाती है. इन सब्‍जेक्‍ट्स की पढ़ाई करने के बाद आप फाइनांशियल मैनेजमेंट में स्‍पेशलाइज्‍ड बन जाते हैं !

जिससे आपको किसी भी ऑर्गेनाइजेशन के फाइनांस डिपार्टमेंट में जॉब मिल सकती है. अगर आप फाइनांस में एमबीए करना चाहते हैं तो आपको किसी भी स्‍ट्रीम में ग्रेजुएट होना चाहिए !!!

(2) मार्केटिंग ( Marketing ) :-

एमबीए मार्केटिंग डायनेमिक और काफी कंपेटिटिव है. एमबीए मार्केटिंग में स्‍टूडेंट्स को कंज्‍यूमर बिहेवियर, मार्केट, एडवरटाइजिंग और इस फील्‍ड से संबंधित अन्‍य बारीकियों को समझने में मदद मिलती है !

इस फील्‍ड में उन लोगों को करियर बनाना चाहिए जिनकी कम्‍यूनिकेशन स्किल्‍स बेहतरीन हों, मौजूदा रिसोर्स का सही तरीके से इस्‍तेमाल करने की कला आती हो और मार्केटिंग में टिके रहना का जज्‍बा हो !

(3) ह्यूमन रिसोर्स (Human resources ) :-

एचआर में एमबीए उन लोगों के लिए है जो एचआर और स्‍ट्रेटजी में करियर बनाना चाहते हैं. अच्‍छी कम्‍यूनिकेशन स्किल्‍स, आकर्षक पर्सनैलिटी और आत्‍मविश्‍वासी वाले लोगों के लिए एचआर में एमबीए एक अच्‍छा करियर ऑप्‍शन है. किसी भी स्‍ट्रीम में ग्रेजुएट एचआर में एमबीए कर सकते हैं !

(4) इंटरनेशनल बिजनेस ( International Bussiness ) :-

मास्‍टर ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस में इंटरनेशनल ऑपरेशन जैसे इंटरनेशनल मार्केटिंग और फाइनांस की गहराई से जानकारी दी जाती है. एमबीए की इस डिग्री में मल्‍टीनेशनल कोऑपरेशन पर ज्‍यादा फोकस किया जाता है. इस कोर्स में एडमिशन के लिए किसी भी स्‍ट्रीम से ग्रेजुएट होना जरूरी है !

(5) ऑपरेशंस :

ऑपरेशंस में एमबीए प्रोडक्‍शन मैनेजमेंट या शॉप फ्लोर मैनेजमेंट में मददगार होता है. इस कोर्स के जरिए आप प्रोसेस फ्लो को मेंटेन करना के अलावा वेंडर और इंटर-डिपार्टमेंटल रिलेशंस को बनाए रखने का गुण सीखते हैं !

इंजीनियरिंग बैकग्राउंड के ज्‍यादातर स्‍टूडेंट्स ऑपरेशंस में एमबीए करते हैं ! क्‍योंकि प्रोडक्‍ट डेवलपमेंट, डिजाइनिंग और प्रोसेस ऑप्‍टिमाइजेशन की जानकारी होने की वजह से उन्‍हें इस फील्‍ड में ढलने में ज्‍यादा दिक्‍कत नहीं होती है. हालांकि किसी भी स्‍ट्रीम के उम्‍मीदवार इस कोर्स के लिए एप्‍लाई कर सकते हैं !

(6) इंफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी (Information Technology ) :-

आईटी में एमबीए ऐसे प्रोफेशनल्‍स को तैयार करने के लिए डिजाइन किया गया है जो इंफॉर्मेशन और कम्‍यूनिकेशन टेक्‍नोलॉजी से संबंधित प्‍लानिंग, डिजाइन, सलेक्‍शन, इम्प्लिमेन्टेशन और एडमिनिस्ट्रिेशन को प्रभावी ढंग से मैनेज कर सकें !

बिजनेस टीम में आईटी ग्रेजुएट्स एक महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं. खासकर सॉफ्टवेयर सॉल्‍यूशंस की डिजाइनिंग और इम्प्लिमेन्टेशन में. किसी भी स्‍ट्रीम के उम्‍मीदवार आईटी में एमबीए कर सकते हैं !

(7) सप्‍लाई चेन मैनेजमेंट :-

इस कोर्स के तहत इंवेंट्री मैनेजमेंट, वेयरहाउसिंग और क्‍लाइंट्स या किसी कंपनी द्वारा मांगे गए तमाम तरह के मटीरियल के ट्रांसपोर्टेशन की जानकारी दी जाती है. सप्‍लाई चेन मैनेजमेंट में किसी भी स्‍ट्रीम के ग्रेजुट्स एमबीए कर सकते हैं !

(8) रूरल मैनेजमेंट :

एमबीए इन रूरल मैनेनजमेंट एक अनोखा प्रोग्राम है जिसे रूरल बिजनेस मार्केटिंग के फील्‍ड में स्किल्‍ड मैनेजर्स की बढ़ती डिमांड को पूरा करने के लिए बनाया गया है ,

“रूरल मार्केट में विकास की संभावनाएं बहुत ज्‍यादा हैं ” और कॉर्पोरेट घरानों को इस बात का अच्‍छी तरह एहसास है. किसी भी स्‍ट्रीम के उम्‍मीदवार इस कोर्स के लिए एप्‍लाई कर सकते हैं !

(9) एग्री बिजनेस मैनेजमेंट :-

इस कोर्स में स्‍टूडेंट्स उन कंपनियों को मैनेज करने का गुर सीखते हैं जो कंज्‍यूमर तक एग्रीकल्‍चरल प्रोडक्‍ट्स को पहुंचाने का काम करती हैं. एग्रीबिजनेस सेक्‍टर की विशेष जरूरतों को ध्‍यान में रखते हुए स्‍टूडेंट्स को मैनेजमेंट, मार्केटिंग और फाइनांस की अच्‍छी समझ होनी चाहिए. किसी भी स्‍ट्रीम में ग्रेजुएट एग्री बिजनेस मैनेजमेंट में एमबीए कर सकते हैं !

(10) हेल्‍थ केयर मैनेजमेंट ( Health Care Management ) :-

हालांकि हेल्‍थकेयर में एमबीए कोर बिजनेस स्किल्‍स और प्रैक्टिस को कवर करता है, लेकिन इसमें उन विशेष मुद्दों पर भी फोकस किया जाता है जिनसे बतौर हॉस्पिटल एडमिनिस्‍ट्रेटर, मेडिकल प्रैक्टिस मैनेजर, इंश्‍योरेंस-कंपनी एग्‍जीक्‍यूटिव या इसी तरह की कोई दूसरी भूमिका निभा रहे मैनेजर को दो-चार होना पड़ सकता है. कोई भी ग्रेजुएट हेल्‍थ केयर मैनेजमेंट में एमबीए कर सकते हैं !

MBA के बाद जॉब प्रोफाइल :-

HR Manager
Management Analyst
Project Manager
Financial Advisor
Financial Manager
Accounting Managers
Cash Managers
Management Consultants
Credit Managers and Specialists !!!

MBA सैलरी :-

एमबीए करने के बाद आप विभिन्न क्षेत्रो में जाते है और हर क्षेत्र में आपकी सैलरी भिन्न होती है,और आपकी सैलरी कंपनी पर भी निर्भर करती है कि आप किस कंपनी में और किस प्रोफाइल में काम कर रहे है| इस क्षेत्र में आपकी शुरुआत में सैलरी 30,000 से 50,000 हो सकती है, और अनुभव के बाद इस क्षेत्र में सैलरी 70,000 या इससे अधिक भी हो सकती है !

BBA के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारा ये पोस्ट पढ़ सकते हैं –

BBA Course Kya hai all details

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *