BHMS (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery)योग्यता, खर्च,जॉब, सैलरी

BHMS Full Form :- Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery

BHMS एक Undergraduate Homeopathic Medical Course है. होम्योपैथी चिकित्सा की एक समग्र प्रणाली है जो कि मुख्य रूप से टैबलेट के रूप में दिए गए अत्यधिक पतला पदार्थों के साथ व्यक्ति के उपचार पर आधारित है जो शरीर की प्राकृतिक चिकित्सा प्रणाली को ट्रिगर करता है.होमियोपैथी मेडिसिन प्रणाली भारतवर्ष में तीसरी सबसे बड़ी मेडिसिन प्रणाली है इसमें क्रमशः एलोपेथी, आयुर्वेद एवं होमियोपैथी है। तीसरी सबसे बड़ी प्रणाली होने कारण ही अक्सर लोग जानना चाहते हैं की कैसे वे Homeopathy Doctor बनकर खुद की कमाई कर सकते हैं। आगे हम इसमें क्रमवार तरीके से होमियोपैथी डॉक्टर बनने के बारे में बात करे हैं।

BHMS Course पांच साल का होता है जिसमें एक इंटर्नशिप शामिल है. एक समग्र वैकल्पिक चिकित्सा की Degree के रूप में Homeopathic Medicine और Surgery की Degree Bachelor of Homeopathic औषधीय प्रणाली का बुनियादी और गहन ज्ञान प्रदान करता है. Homeopathic Medicine और Surgery के स्नातक भी पत्राचार के माध्यम से या दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम के माध्यम से किया जा सकता है.


BHMS के लिए योग्यता :-

Homeopathy Doctor बनने के लिए सबसे प्रचलित डिग्री कोर्स बैचलर ऑफ़ होमियोपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी (BHMS) है, हालंकि कुछ डिप्लोमा एवं अन्य कोर्स भी उपलब्ध हैं लेकिन यहाँ पर हम BHMS Course के माध्यम से Homeopathy Doctor बनने की बात करते हैं। इसलिए होमियोपैथी डॉक्टर बनने के लिए इच्छुक उम्मीदवार को BHMS करना होगा और इस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवार का बारहवीं में साइंस स्ट्रीम जिसमें बायोलॉजी विषय की अनिवार्यता कर दी गई है से कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना बेहद अनिवार्य है। कहने का आशय यह है की बारहवीं उम्मीदवार को PCB विषयों के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ पास करनी होगी। उसके बाद उम्मीदवार को एडमिशन सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न राज्य स्तरीय एवं राष्ट्र स्तरीय एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने की आवश्यकता होती है। Homepathy doctor बनने के इच्छुक उम्मीदवार की BHMS करने के लिए कम से कम उम्र 17 वर्ष होनी चाहिए।

ENTRANCE Exam:-

BHMS Entrance Exams
NIH BHMS Entrance Exam
PU CET (BHMS) Entrance Test
UP BHMS – Common Entrance Test
National Eligibility cum Entrance Test (NEET)

एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद उम्मीदवार को BHMS करने के लिए कॉलेज का चयन करना होता है उम्मीदवार चाहे तो अपने राज्य में स्थित किसी प्रचलित होमियोपैथी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन ले सकता है। या फिर अन्य शहरों एवं राज्यों में भी अच्छे कॉलेज का चयन कर एडमिशन ले सकता है !

BHMS करने में खर्च :-

भारत में B.H.M.S कोर्स करने के लिए प्राइवेट एवं सरकारी कॉलेज दोनों मौजूद लेकिन इस की फीस में काफी अंतर होता है ! आप प्राइवेट कॉलेजों का फीस भी अब राज्य सरकारें ने तय करती हैं !

अगर सरकारी BHMS मेडिकल कॉलेज की बात करें तो कम फीस मात्र 1300-50000 PER Year.

BHMS फीस भारत के प्राइवेट कॉलेजों में ज्यादा होता है यह देखा गया है कि 2 लाख से लेकर 3 लाख रुपए प्रति वर्ष की फीस होती है !

Course Details :- BHMS होम्योपैथिक सिस्टम में एक अंडर ग्रेजुएट डिग्री कोर्स है। Homeopathy Doctor बनने वाले उम्मीदवार को यह डिग्री 5.5 साल के शैक्षणिक कार्यक्रम को पूरा करने के बाद प्रदान की जाती है। इस शैक्षणिक कार्यक्रम में 4.5 साल का शैक्षणिक सत्र एवं एक साल की इंटर्नशिप एवं प्रैक्टिकल कार्यक्रम शामिल है । कहने का अभिप्राय यह है की इस अंडर ग्रेजुएट कोर्स के माध्यम से Homeopathic Doctor बनने के लिए उम्मीदवार को 5.5 साल कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है। इसमें अनेकों विषयों के बारे में उम्मीदवार को विस्तार से समझाया जाता है ताकि वह इस प्रणाली के माध्यम से लोगों का उपचार कर पाने में सक्षम हो पाए।

BHMS मे विशेषज्ञता :-
BHMS Course को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद, कोई भी होम्योपैथी मे विशेषज्ञता का पीछा कर सकता है. होम्योपैथी जैसे बाल चिकित्सा, बांझपन, मनोचिकित्सा, त्वचा विशेषज्ञ, आदि में विशेषज्ञता के लिए कई विकल्प होते है.


BHMS करने के फायदे :-
BHMS Course करने के बाद छात्रों को अनेक फायदे होते हैं. आज के समय में होम्‍योपैथी का क्षेत्र बहुत बड़ा हो गया है इसलिए इस क्षेत्र में अनेक रोजगार मिल जाते हैं. BHMS में कई Course कराये जाते हैं जिससे छात्र को इस क्षेत्र से जुडी हर जानकारी हो जाती है. इसके बाद छात्र इस क्षेत्र में डॉक्टर, प्राइवेट प्रैक्टिस, पब्लिक हेल्थ स्पेशलिस्ट्स, टीचर्स, रिसर्चेस, कंसलटेंट, फार्मासिस्ट, आदि पोस्ट में जॉब कर सकते हैं.


BHMS के बाद रोजगार के क्षेत्र :-
BHMS Course करने के बाद आप आसानी से सरकारी अस्पतालों, निजी अस्पतालों, बीमा कंपनियों, एनजीओ, दवा कंपनियों, अनुसंधान प्रयोगशालाओ आदि मे नौकरी पा सकते है. BHMS कोर्स करने के बाद कुछ सामान्य रोजगार के क्षेत्र नीचे दिए गए है.
Pharmacist
Junior Lecturer
Insurance Officer
Research Associate
Homeopathic Doctor
Homeopathic Consultant
Quality Control Officer


BHMS के बाद जॉब प्रोफाइल :-
Doctor
Lecturer
Consultant
Scientist
Therapist
Pharmacist
Spa director
Private practice
Medical assistant
Public Health Specialist

BHMS के लिए अनुमानित सैलरी : –

सैलरी के क्रम में अन्य क्षेत्रों में मेडिकल फील्ड बेंचमार्क है। होम्योपैथिक क्षेत्र भी इससे सम्बन्धित है। सरकारी क्षेत्र में एक होम्योपैथिक चिकित्सक का सैलरी रू 25,000 से रु 35,000 प्रति माह जबकि निजी क्षेत्र में वेतन रु 20,000 प्रति माह से शुरू होता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *