B.D.S (Bachelor of Dental Surgery ) में एडमिशन, कोर्स ,फीस,सैलरी

Read Time:9 Minute, 8 Second

Bds course kya hota hai , BDS kyaa hota hai , bds course fees , bds ke baad kya kare , bds course details , bds full form , bds course duration
bds course fees in private college , bds full form in hindi , bds salary

BDS (Bachelor of Dental Surgery )

BDS पाठ्यक्रम में मानव शरीर रचना विज्ञान (Human anatomy), शरीर विज्ञान और बायोकेमिस्ट्री (Physiology & Biochemistry), दन्त चिकित्सा सामग्री (Dental material), Prosthodontics, Microbiology, भ्रूणविज्ञान और ऊतक विज्ञान, सामान्य और दंत चिकित्सा pharmacology- Pathology, Periodontics, Pedodontics, Orthodontics और दंत चिकित्सा जैसे मूलभूत विषयों शामिल हैं। !

BDS क्या होता हैं ?

BDS कोर्स क्या होता है , इस पोस्ट में बताया गया है :-

Bechelor of Dental Surgery ( बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी ) (BDS) यह एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स है , जिसे आप 12वी पास करने के बाद कर सकते है।  इस कोर्स में आपको दांतों से संबंधित सभी बीमारियों के बारे में जानकारी दी जाती है , और उन बीमारियों के इलाज के बारे में भी आप को पढाया जाता है । बी. डी . एस BDS 4 वर्ष का Course होता है। तथा BDS पूरा होने के बाद डेंटल हॉस्पिटल में 1 वर्ष या उससे ज्यादा की Intership करना पड़ता है । इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप को किसी भी तरह की सरकारी एवं प्राइवेट हॉस्पिटल में जॉब आसानी से मिल सकती है , या फिर आप अपनी डेन्टल किलनिक खोल सकते हैं ।

BDS FULL FROM

BDS ka full form :- Bechelor of Dental Surgery होता है ।

Bds full form in hindi

बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी

BDS Course Duration

BDS 4 year Ka hota hai + 1 year internship ( total 5 yr )

BDS में एडमिशन लेने की प्रक्रिया:-

  • जिन छात्रो ने 10 + 2 परीक्षा भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, और अंग्रेजी से उत्तीर्ण की है वे बीडीएस कोर्स कर सकते है |
  • बीडीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश प्राप्त करने के लिए छात्रों को न्यूनतम 50% अंक ( आरक्षित वर्ग के छात्रो को 40% अंक) से अधित दो अंक प्राप्त करना होगा |
  • बीडीएस कार्यक्रमों में प्रवेश, प्रवेश परीक्षा के माध्यम से किया जाएगा | राष्ट्रीय व विश्वविद्यालय स्तर की परीक्षाओं में आयोजित प्रवेश परीक्षा में छात्र उपस्थित हो सकते है | NEET (नेशनल एलीजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट) को बीडीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश देने के लिए अधिकतर माना जाता है |


प्रवेश परीक्षा क्लियर करने के बाद, छात्रो को सम्बंधित प्राधिकरण द्वारा आयोजित परामर्श प्रक्रिया में भाग लेना होगा | छात्रों को रैंक, भरे विकल्प और सीटो की उपलब्धता के आधार पर चुना जाएगा |


BDS कोर्स के लिए अनुमानित फीस:-

बीडीएस (बैचलर ऑफ़ डेंटल सर्जरी) कोर्सेज के लिए अलग अलग कॉलेजस में अलग अलग फी स्ट्रक्चर है, जिसका औसत शिक्षण शुल्क 50,000 रूपए से लेकर 12 लाख रूपए तक है | विद्यार्थी को BDS में प्रवेश लेने के लिए प्रवेश परीक्षा देने की जरुरत है |

B.D.S के बाद भारत में रोजगार के अवसर :-

  • परंपरागत रूप से बड़ी संख्या में छात्र बी.डी.एस. की पढ़ाई करने के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखते हुए 3 वर्ष का MDS मास्टर ऑफ डेंटल सर्जरी (एम.डी.एस.) करना पसंद करते हैं। एम.डी.एस. की पढ़ाई के दौरान हम विशेषज्ञता की तरफ बढ़ते हैं। एम.डी.एस. करने के बाद आपको सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में अच्छा वेतन भी मिलता है।
  • बी.डी.एस. के बाद आप किसी संस्था में अध्यापन कार्य कर सकते हैं। यह बेहद ही जिम्मेदारी भरा क्षेत्र हैं लेकिन इसमें अच्छा वेतनमान नहीं मिलता। सामान्यतः इसमें आपको 2 लाख से 2.5 लाख तक का वार्षिक वेतनमान मिलता है।
  • शार्ट सर्विस कमीशन द्वारा आप इंडियन आर्मी में भी डेंटिस्ट के रूप में भर्ती हो सकते हैं। यह बेहद ही प्रतिष्ठित जॉब है। इसमें न सिर्फ अच्छा वेतनमान मिलता है बल्कि विभिन्न प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध होती है।
  • फॉरेंसिक डिपार्टमेंट, मेडिकल इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया, आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस आदि जैसे केन्द्रीय संस्थानों में रिसर्च करके आप अपना करियर संवार सकते हैं।
  • एम.बी.ए. इन हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर का कोर्स करके आप हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन से सम्बंधित क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। आधुनिक समाज में चिकित्सा से सबन्धित विभिन्न प्रकार की जटिलताओं के कारण ही हॉस्पिटल मैनेजमेंट जैसे क्षेत्र का अविर्भाव हुआ है
  • आप निजी स्तर पर अपना क्लिनिक खोल कर प्रैक्टिस कर सकते हैं। इसमें आपको शुरू में पूंजी लगानी होगा। लेकिन क्लिनिक खोलने से पहले किसी सीनियर डॉक्टर के अंतर्गत कम से कम 1 साल का अनुभव जरुर हासिल कर लें।

भारत से बाहर करियर की सम्भावना :-

  • भारत से बाहर जाकर आप अमेरिका, इंग्लैंड सहित अन्य यूरोपीय देशों में भी अपना भविष्य संवार सकते हैं। यद्यपि यह प्रक्रिया बेहद चुनौतीपूर्ण और महंगी है लेकिन विदेश में वेतनमान भी काफी अच्छा मिलता है। अमेरिका में डेंटिस्ट बनने के लिए आपको दो चरणों में होने वाली NBDE नेशनल बोर्ड डेंटल एग्जामिनेशन (एन.बी.डी.ई.) क्वालीफाई करना होगा।
  • यह परीक्षा दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में गिनी जाती है। इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद आपको अमेरिका के किसी भी प्रतिष्ठित संस्थान से DDS डॉक्टर ऑफ डेंटल सर्जरी (डी.डी.एस.) की पढ़ाई करनी होगी। उसके बाद आप वहां पर किसी भी सरकारी और निजी संस्था में बेहद अच्छे वेतनमान पर नौकरी कर सकते हैं।
  • इसके अलावा मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एग्जाम पास करके आप खाड़ी देशों में भी जॉब तलाश सकते हैं। यह परीक्षा तुलनात्मक रूप से एन.बी.डी.ई. की परीक्षा से सरल होती है। खाड़ी देशों में आपको 8 लाख से 12 लाख तक का वार्षिक वेतनमान मिल सकता है।


BDS JOB Profile –

  • डेंटिस्ट
  • डेंटल सर्जन
  • एंडोडाँन्टिक
  • ओरल और मैक्सिलोफेशियल पैथोलॉजिस्ट
  • ओरल सर्जरी
  • ऑर्थोडैंटिक्स
  • पेडोडोंटिक्स
  • पेरिओदोंटिक्स
  • प्रोस्थोडोंटिक्स

BDS Salary


BDS के लिए सैलरी

बीडीएस पूरा करने के बाद आप एक दन्त चिकित्सा का प्रारंभिक वेतन 15,000 रूपए से 30,000 रूपए प्रति माह हो सकता है | इस क्षेत्र में अच्छा अनुभव प्राप्त करने के बाद आपको प्रति वर्ष 4 से 6 लाख रूपए के रूप में अच्छा वेतन मिल सकता है | बीडीएस उम्मीदवारों को दन्त क्षेत्र के पुरस्कृत नौकरी के अवसर प्रदान करते है | और अच्छे वेतन के साथ चिकित्सा क्षेत्र में अमेरिका और ब्रिटेन में काम करने के अधिक रोजगार के अवसर है, आप अपना खुद का क्लिनिक खोल सकते है और लगभग 40,000 से 1,00,000 /pm

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply