B.A.LLB (बैचलर ऑफ़ लॉ) में एडमिशन, स्कोप, कैरियर, सैलरी Hindi me jankari

LL.B की फुल फॉर्म –

LL.B की फुल फॉर्म है Legum Baccalaureus ये एक लेटिन lenguage का वर्ड है, यहाँ पर “LL” plural legume के लिए इस्तेमाल किया गया है जिसका मतलब होता है ! laws इंग्लिश में Legum Baccalaureus का मतलब होता है Bechlors of Laws होता है ।

एल.एल.बी क्या है ?

आजकल अनेक छात्र कानून के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं क्योकि इस क्षेत्र में जॉब के काफी अच्छे स्कोप मिल जाते हैं.

बैचलर ऑफ लॉ (LLB) कोर्स (कानून की स्नातक) लॉ से सम्बंधित एक ऐसा कोर्स है , जिसमें कानून से सम्बंधित (related) सभी विषयो के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी जाती है , कानून का कार्य हमारे समाज में शांति व्यवस्था बनाये रखने तथा समाज में होने वाले अपराधों को रोकना है !

L.LB कैसे करे, क्या योग्यता है? : Qualifications For LL.B

अगर आपके ग्रेजुएशन में कम से कम 45% मार्क्स है या आपने किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12th किया है तो आप लॉ कर सकते है !

LLB के Type –

समान्यत: LLB करने के दो तरीके है जो इस प्रकार है-

BA LLB – अगर आप Intermediate (10+2) पास है और आप LLB करना चाहते है तो आप BA LLB के लिए Apply कर सकते है. इस Course की समय आवधि 5 वर्ष की होती है !


LLB – अगर आप LLB करना चाहते है तो आप किसी भी विषय से Graduation करके LLB के लिए Apply कर सकते है. इस Course कि समय आवधि 3 वर्ष कि होती है !

LLB Related Course


LLB से related कौन कौन से कोर्स होते है आइये जानते है दोस्तों अगर आप LLB करना चाहते हैं तो हम आपको बताना चाहते है कि Law के अंतर्गत कई कोर्स आते हैं. जैसे की नीचे कुछ Course के नाम दिये गयें है –


क्रिमिनल लॉ
पेटेंट अटॉर्नी
कॉरपोरेट लॉ
टैक्स लॉ
बैंकिंग लॉ
फैमिली लॉ
साइबर लॉ

अगर LLB करना है तो इस बात का ध्यान रखें –

12th क्लास पास करे –

LLB जैसे कोर्स को करने के लिए आपको सबसे पहले बाहरवी कक्षा को सफलतापूर्वक पास करना होगा । 10th के बाद आर्ट्स स्ट्रीम में जाये. ऐसा मैं इसलिए बोल रहा हूँ क्यूंकि आर्ट्स स्ट्रीम में कानून के बारे में काफी कुछ जानने को मिलता है जो LLB के स्टूडेंट के काम आती है । वैसे किसी भी स्ट्रीम के लोग LLB कर सकते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम LLB : –

B.A.LLB के लिए प्रवेश परीक्षाए –

B.A.LLB में प्रवश लेने के लिए प्रवेश परीक्षाए होती है…

AILET
CLAT
LSAT

LLB करने के लिए आपको किसी भी कॉलेज में सीधा एडमिशन नहीं मिलता. एडमिशन लेने के लिए आपको सबसे पहले एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जिसे CLAT नाम से जाना जाता है. CLAT का फुल फॉर्म Common Law Admission Test होता है और इस एग्जाम को 12th या ग्रेजुएशन के बाद दिया जा सकता है. आप इस एग्जाम को जितने बार भी दे सकते हो और इस एग्जाम में बैठने के लिए आपके 12th या ग्रेजुएशन में कम से कम 45% होने चाहिए. आरक्षित वर्ग के लिए यह 40% निर्धारित की गयी है वैसे यह योग्यता कॉलेज के हिसाब से थोड़ा कम ज्यादा हो सकता है !

CLAT Exam fees –

CLAT OFFICIAL WEBSITE

CLAT का फॉर्म आप ऑनलाइन भरते हो तो इसकी फीस General/OBC/SAP के लिए Rs 4000 होती है वहीं SC/ST के लिए यह फीस Rs 3500 निर्धारित की गयी है ।

CLAT Exam Pattern :-

एग्जाम देने से पहले आपको एग्जाम के पैटर्न को समझना होगा. CLAT का एग्जाम 2 घंटे का होता है जिसमे 200 मार्क्स के सवाल होते है और सवाल भी 200 पूछे जाते है. यह एग्जाम पूरी तरह से ऑब्जेक्टिव होता है और इस एग्जाम को आप सिर्फ इंग्लिश मीडियम में ही दे सकते हो. यह एग्जाम ऑफलाइन लिया जाता है और हर सही जवाब पर 1 मार्क्स दिया जाता है वहीं गलत जवाब देने पर 0.25 मार्क्स काट लिए जाते है. CLAT का एग्जाम हर साल लिया जाता है जिसमे इन टॉपिक्स से सवाल पूछे जाते है.

Legal Aptitude
Logical Reasoning
English including Comprehension
General Knowledge/Current Affairs
Elementary Mathematics

Top एलएलबी कॉलेजेस – TOP L.L.B college in India :-

इंडिया में कई ऐसे हैं जहां पर एलएलबी कोर्स कराया जाता है. इन कोर्सेज में कानून से सम्बंधित सभी जानकारिया दी जाती हैं. जिससे स्टूडेंट्स आसानी से अपना करियर बना सके.

फैकल्टी ऑफ़ लॉ यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली, न्यू दिल्ली
नलसर यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ – (NALSAR), हैदराबाद
सिम्बायोसिस लॉ स्कूल – (SLS), पुणे
जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल – (JGLS), सोनीपत
एसआरऍम यूनिवर्सिटी काट्टनकुलाथुर कैंपस – (SRM), चेन्नई
सिंहगड लॉ कॉलेज, पुणे
यूनिवर्सिटी ऑफ़ कलकत्ता, कोल्कता
देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
भर्ती विद्यापीठ डिमेड यूनिवर्सिटी – (BVDU), पुणे
निरमा यूनिवर्सिटी – (NU), अहमदाबद

गुजरात नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, गांधीनगर
K.L.E. सोसाइटी लॉ लॉ कॉलेज, बैंगलोर
नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ, मोहाली
एमिटी लॉ स्कूल, दिल्ली, नोएडा
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
सिंबायोसिस लॉ स्कूल, पुणे

पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर पर उपलब्ध एलएलबी की कोर्स-अवधि तीन वर्ष ही होती है। आमतौर पर इसमें चयन प्रक्रिया के आधार पर दाखिले दिए जाते हैं।

प्रमुख संस्थानों –

  • यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली (दिल्ली)
  • आगरा यूनिवर्सिटी (आगरा)
  • चौ. चरण सिंह यूनिवर्सिटी (मेरठ)
  • बीएचयू (वाराणसी)
  • यूनिवर्सिटी ऑफ इलाहाबाद (इलाहाबाद)
  • कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी(कुरुक्षेत्र)
  • एमडी यूनिवर्सिटी (रोहतक)
  • हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी (शिमला)
  • अवधेश प्रताप यूनिवर्सिटी (रीवा)
  • गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी (अमृतसर)
  • पंजाबी यूनिवर्सिटी (पटियाला) !!!
L.LB करने के बाद कैरियर आप्शन – Career After LL.B :-

Career Options After LLB Degree in Hindi :– एडवोकेसी शुरू से ही एक रॉयल प्रोफेशन रहा है. L.LB करने के बाद आजकल स्टेम्प बेचने से लेकर जज बनने तक सेकड़ों कैरियर आप्शन मौजूद है, लेकिन मैं यहाँ सिर्फ टॉप 7 कैरियर आप्शन की बात करूँगा, जो आप लॉ करने के बाद अपना सकते है, तो चलिए शुरू करते है :-

1.आप advocate बनकर प्रेक्टिस कर सकते है :- यदि आप कोर्ट में प्रैक्टिस करने का मन बना चुके हैं, तो आपको लॉ की डिग्री लेने के बाद एक और *परीक्षा से गुजरना होगा। यह परीक्षा बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council of India) लेगी। इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद आप कोर्ट में प्रैक्टिस करने का अधिकार प्राप्त कर लेंगे। लॉ की पढ़ाई करके बार काउंसिल में एनरोल होने के बाद शुरुआती दौर में किसी वकील के साथ जूनियर असिस्टेंट के रूप में काम करना होता है। इस दौरान फाइलिंग, रिसर्च, अदालतों से तारीख लेना, नियोक्ता वकील के साथ अदालत की कार्यवाही में हिस्सा लेना और केस ड्राफ्ट करना (मुकदमे के कागजात तैयार करना) आदि काम करने पड़ते हैं। वकालत से जुड़ी इन बुनियादी चीजों को समझने के बाद स्वतंत्र रूप से वकील के रूप में काम शुरू किया जा सकता है।

2.एन्वॉयरनमेंटल लॉयर (Environmental Lawyer) बन सकते है– एन्वॉयरनमेंट लॉ में उन चीजों को नष्ट होने से बचाने की बात की जाती है, जो हमें प्रकृति की तरफ से प्राप्त हुई हैं। इन मामलों में कई बार पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन दायर की जाती हैं, जिसके लिए एन्वॉयरनमेंटल लॉ में निपुण लोगों की डिमांड होती है। इसके अलावा ऐसे एनजीओ में भी ऐसे लोगों की मांग होती है, जो एन्वॉयरनमेंट से जुडे मुद्दों को लेकर संघर्ष कर रहे हैं।

3.साइबर लॉयर (Cyber ​​Lawyer) बन सकते है :– इस समय देश में ऑनलाइन और साइबर अपराध से जुडे मामले भी प्रकाश में आने लगे हैं। इसमें खासकर फर्जी और धमकी भरे ई-मेल भेजना, कंपनियों के साथ धोखा-धडी, सॉफ्टवेयर की चोरी, एसएमएस हैकिंग, मोबाइल की क्लोनिंग आदि शामिल हैं। इन सब को देखते हुए ही कंप्यूटर और नेटवर्क सुरक्षाओं पर ज्यादा ध्यान दिया जाने लगा है। आपके पास कंप्यूटर एवं डिजिटल फॉरेंसिक एक्सपर्ट बनने का भी सुनहरा अवसर है।

4.पेंटेट एंड कॉपीराइट लॉयर (Patent and Copyright Lawyer) बन सकते है :– पेटेंट एक ऐसी व्यवस्था है, जिसके तहत किसी भी नई खोज से बनने वाले प्रोडक्ट पर एकाधिकार दिया जाता है। अगर कोई थर्ड पार्टी वह प्रोडक्ट बनाना चाहती है, तो उसे इसके लिए लाइसेंस लेना पडता है और उस पर रॉयल्टी देनी पडती है। बौद्धिक सम्पदा (Intellectual property) बिजनेस कंपीटेंस के प्रमुख क्षेत्र (key areas) के रूप में उभरा है। भारत में भी इससे संबंधित प्रोफेशनल्स की काफी मांग है।

5.लेबर लॉयर (Labor Lawyer) बन सकते है : – कर्मचारियों के अधिकार एवं उनकी समस्याओं के समाधान के लिए लेबर लॉ बनाया गया है। इन दिनों इस क्षेत्र से संबंधित समस्याएं अदालत में काफी संख्या में हैं। आप इसमें भी बेहतर करियर बना सकते हैं !!!

6.इंटरनेशनल लॉयर (International Lawyer) बन सकते है : – इंटरनेशनल लॉ का अर्थ होता है अंतरराष्ट्रीय कानून। इसके तहत विभिन्न राष्ट्रों के राष्ट्रीय हितों के मध्य उत्पन्न होने वाली समस्याओं को कानून के द्वारा सुलझाया जाता है। यदि आपकी अंग्रेजी अच्छी है और अंतरराष्ट्रीय घटनाओं में रुचि है, तो यह क्षेत्र आपके लिए उपयुक्त है।

7.कॉरपोरेट लॉयर (Corporate Lawyer) बन सकते है : – कॉरपोरेट लॉ के जानकारों की आजकल काफी मांग है, जो विभिन्न कंपनियों को कानूनी अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में सलाह देते हैं। आज के वैश्विक परिदृश्य (Global scenario) में ऐसे विशेषज्ञों के लिए अवसरों की कमी नहीं है। कुछ साल पहले तक कु्छ ही कंपनियां विदेशी कारोबार से जुड़ी हुई थीं, लेकिन अब छोटी कंपनियां भी कारोबारी जरूरत के मद्देनजर विदेशी लेनेदेन से संबद्ध होने लगी हैं!!!

LLB में Job Types

Attorney General
District & Sessions Judge
Munsifs (Sub-Magistrate)
Advocate
Notary
Public Prosecutor
Solicitor
Legal Advisor
Trustee
Teacher & Lecturer
Law Reporter
Magistrate
Legal Expert

B.A.LLB के बाद सैलरी :-

यह कोर्स पूरा करने वाले छात्र की सैलरी उनके कौशल पर निर्भर करती है, इस क्षेत्र में प्रारंभिक सैलरी आपके कौशल पर निर्भर करती है इस क्षेत्र में आपकी सामान्य तौर पर सैलरी 15,000 से 25,000 हो सकती है, और कुछ अनुभव के बाद आपकी सैलरी 40,000 से 60,000 तक हो सकती है| और सैलरी पैकेज अलग-अलग कारकों जैसे कि कंपनी, शिक्षा, उम्मीदवार के कौशल, कार्य अनुभव आदि पर भी निर्भर करती है|

इसी तरह की और भी ज्यादा कैरियर से संबंधित जानकारी के लिए हमारे होम पेज पर जाकर चेक करे ।

Career jankari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *