12वीं में आर्ट्स के बाद कैरियर आकर्षक कोर्स

आमतौर पर यह माना जाता है कि 12वीं में साइंस और कॉमर्स हो तभी भविष्य में बेहतर विकल्प मिल सकते हैं लेकिन यह सही बात नहीं है। आप 12वीं में आर्ट्स की पढ़ाई के बावजूद भी कई आकर्षक course   हैं। आइए आज आपको उन कोर्सों के बारे में बताते हैं जो आप 12वीं में आर्ट्स के बाद कर सकते हैं…

बीए या बैचलर ऑफ आर्ट्स (BA-Bachelor of Arts) :- गैर साइंस और गैर कॉमर्स विषयों जैसे साहित्य, इतिहास, भूगोल, राजनीतिक विज्ञान और कई सामाजिक विज्ञान में आप बीए कर सकते हैं। यह सिंपल ग्रैजुएशन है और इसका सिलेबस अन्य स्ट्रीम के मुकाबले थोड़ा आसान होता है। सरकारी नौकरी की तैयारी करने वाले लोगों के लिए यह अच्छा विकल्प है। ज्यादातर सरकारी नौकरी में शैक्षिक योग्यता ग्रैजुएशन होती है।

बीएफए बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (BFA-Bachelor of Fine Arts) :-
आम ग्रैजुएशन की तरह यह भी 3 सालों का कोर्स है। इसमें पेंटिंग, संगीत, नृत्य और फोटोग्राफी जैसे विषय पढ़ने को मिलते हैं। वैसे यह कोर्स आप तब ही करें जब आपके अंदर रचनात्मकता और स्किल्स हों। कुछ नया कर दिखाने का जज्बा रखने वाले लोगों के लिए बीएफए carieer  के आकर्षक विकल्प पेश करता है।

जर्नलिजम ऐंड मास कम्यूनिकेशन (Journalism and mass communication) :-
यह एक ऐसा कोर्स है जिसकी काफी मांग है और कोर्स करने के बाद आसानी से नौकरी मिल जाती है। मीडिया सेक्टर तेजी से बढ़ता हुआ क्षेत्र है इसलिए जॉब की दिक्कत नहीं है। जर्नलिजम में कई तरह के कोर्स जैसे डिग्री, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स कराए जाते हैं। डिग्री कोर्सों की अवधि 3 सालों की होती है जबकि डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स 1-2 साल के होते हैं।
इसके अहम विषय मीडिया एथिक्स, मास कम्यूनिकेशन, एडिटिंग, रिपोर्टिंग, लैंग्वेज और ट्रांसलेशन, कम्यूनिकेशन स्किल्स, इलेक्ट्रोनिक मीडिया और प्रिंट मीडिया हैं।

होटल मैनेजमेंट (Hotel Management) :-
भारत का पर्यटन क्षेत्र भी तेजी से उभरता हुआ क्षेत्र है जहां रोजगार के अवसर काफी हैं। होटल मैनेजमेंट में 3 सालों का डिग्री कोर्स या फिर 1-2 साल का डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

होटल मैनेजमेंट में मुख्य रूप से कम्यूनिकेशन स्किल्स, फॉरेन लैंग्वेज, फूड प्रॉडक्शन, ट्रैवल मैनेजमेंट, फ्रंट ऑफिस ऑपरेशंस, हाउसकीपिंग, मैनेजमेंट, अकाउंटिंग, न्यूट्रिशन ऐंड फूड साइंस, पब्लिक रिलेशंस और मार्केटिंग जैसे विषय पढ़ने होते हैं।

बैचलर ऑफ बिजनस ऐडमिनिस्ट्रेशन या बीबीए (BBA-Bachelor of Business Administration) :-
मैनेजमेंट की दुनिया में अगर आप करियर बनाना चाहते हैं तो आप बीबीए कर सकते हैं। यह तीन सालों का कोर्स होता है। बीबीए के बाद आप एमबीए यानी मास्टर ऑफ बिजनस ऐमडिनिस्ट्रेशन कर सकते हैं। बीबीए ग्रैजुएट्स को आमतौर पर कॉर्पोरेट हाउस और बिजनस फर्म मैनेजर पद पर या वित्त से संबंधित अन्य पदों पर रखती हैं। आमतौर पर यह राय बनी हुई है कि सिर्फ कॉमर्स के स्टूडेंट ही बीबीए कर सकते हैं लेकिन यह सही नहीं है। अगर आपने आर्ट्स भी कर रखा है तो भी यह कोर्स कर सकते हैं।
बीबीए में आप फाइनैंशल मैनेजमेंट, मार्केटिंग, इकनॉमिक्स, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, अकाउंटिंग, स्टैटिस्टिक्स, आंत्रप्रन्योरशिप स्किल्स और बिजनस कम्यूनिकेशन पढ़ सकते हैं।

इवेंट मैनेजमेंट (Event Management) :-
इवेंट मैनेजमेंट 3 सालों का कोर्स होता है। इसके बाद आप जॉब भी कर सकते हैं या अपना बिजनस भी कर सकते हैं।
इसमें मुख्य रूप से अहम इवेंट्स का अध्ययन, प्लानिंग, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट, अकाउंटिंग, मार्केटिंग ऐंड ऐडवर्टाइजिंग, पब्लिक रिलेशंस, बिजनस लॉज जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं।

इंटेग्रेटिड लॉ कोर्स (integrated law course) :-
इसके बाद आप 5 सालों का बीए एलएलबी इंटेग्रेटिड कोर्स कर सकते हैं।

इसके अहम विषय कॉन्स्टिट्यूशनल लॉज, प्रॉपर्टी लॉज, बैंकिंग लॉज, इंवायरनमेंटल लॉज, कंपनी लॉज, कंज्यूमर प्रोटेक्शन लॉज, फैमिली लॉज, लेबर ऐंड इंडस्ट्रियल लॉज, ह्यूमन राइट्स लॉज, ऐडमिनिस्ट्रेटिव लॉज और पब्लिक इंटरनैशनल लॉज हैं।

ग्राफिक डिजाइन (Graphic Design) :-
ग्राफिक डिजाइन एक विस्तृत एरिया है जिसमें कई तरह के कोर्स के विकल्प उपलब्ध हैं। कुछ अच्छे कोर्सेज ऐनिमेशन और ग्राफिक डिजाइनिंग है। इस फील्ड में 3-4 साल के बैचलर डिग्री कोर्स और 1-2 साल के डिप्लोमा कोर्स भी उपलब्ध हैं। क्रिऐटिव लोगों के लिए यह फील्ड खास है।

टीचर ट्रेनिंग कोर्सेज (teacher training courses) :-
12 th arts  के बाद बाद कई टीचर ट्रेनिंग कोर्स कर सकते हैं। कुछ टीचर ट्रेनिंग कोर्सेज इस तरह से हैं:-इंटेग्रेटिड बीएड कोर्स, बीपीएड (बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन), बीएलएड (बैचलर ऑफ एलिमेंट्री एजुकेशन) या डीएलएड (डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन)। इसके अलावा नर्सरी स्तर का टीचर ट्रेनिंग कोर्स भी मौजूद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *