10वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स के बारे में जानिये पूरी जानकारी

0 0
Read Time:35 Minute, 6 Second
Polytechnic courses

Polytechninic course

अगर आप 10वीं पास करने के बाद आगे पढ़ना नहीं चाहते और कोई जॉब करना चाहते है तो आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स कर सकते है. डिप्लोमा कोर्स 10वीं या 12वीं के बाद किये जा सकते है बहुत सारी फ़ील्ड्स में. अगर आपको किसी फील्ड में रूचि है और आप उसमें अपना करियर जल्दी बनाना चाहते है तो डिप्लोमा एक बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है जिसमें आप उस फील्ड में ट्रेनिंग ले सकते है और फिर उसमे ही पैसे कमाना शुरू कर सकते है

इस आर्टिकल में आपको जानने को मिलेगा कि:

पॉलिटेक्निक कोर्स की लिस्ट 
कोर्स की अवधि और योग्यता
प्रवेश लेने का प्रोसेस 2019
प्रवेश परीक्षा का पैटर्न 2019
जरूरी दस्तावेज
करियर के विकल्प (लेटरल एंट्री, सरकारी और प्राइवेट नौकरी)

अगर इनके अलावा आपके मन में कोई और सवाल या नौकरी के गाइडेंस से जुड़ी कोई जानकारी चाहते हैं तो हमारे ग्रुप से जुड़ें और अपना सवाल पूछें. हम आपकी पूरी सहायता करेंगे. हमसे जुड़ने के लिए नीचे क्लिक करें –

पॉलिटेक्निक कोर्स क्या होता है?

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा एक तरह के टेक्निकल (तकनीकी) कोर्स होते है जो स्किल डेवलपमेंट (कौशल विकास) और प्रैक्टिकल ट्रेनिंग प्रदान कराते है. पॉलिटेक्निक कोर्स 3 साल का रेग्युलर कोर्स होता है जिसमें रेग्युलर क्लास अटेंड करनी होती है. इसमें स्किल्स और प्रैक्टिकल नॉलेज पर फोकस किया जाता है. पॉलिटेक्निक कोर्स स्किल्स के ऊपर ज्यादा फोकस करती है. सैद्धांतिक ज्ञान पर कम फोकस होता है क्योंकि पॉलिटेक्निक कोर्स का उद्देश्य ही प्रैक्टिकल स्किल डेवलपमेंट होती है. सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेजों की फीस कम होती है. इसलिए जिन लोगों को आर्थिक समस्या है लेकिन वो कुछ अच्छा सीखना चाहते है तो पॉलिटेक्निक डिप्लोमा एक बहुत अच्छा विकल्प है. प्राइवेट पॉलिटेक्निक डिप्लोमा में फीस सरकारी इंस्टिट्यूट से थोड़ी ज्यादा होती है लेकिन करियर के विकल्प दोनों का एक जैसा ही होता है.

10वीं के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा का कोर्स

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा इंजीनियरिंग और नॉन इंजीनियरिंग दोनों में होते है.

  1. आर्किटेक्चरल असिस्टेंटशिप
  2. सिविल इंजीनियरिंग
  3. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  4. इंस्ट्रूमेंटेशन और नियंत्रण
  5. मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  6. सूचना प्रौद्योगिकी
  7. कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग
  8. रासायनिक अभियांत्रिकी
  9. डेयरी इंजीनियरिंग
  10. कपड़ा प्रौद्योगिकी
  11. कपड़ा रसायन
  12. ग्लास और सिरेमिक इंजीनियरिंग
  13. प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी
  14. चमड़ा प्रौद्योगिकी
  15. आंतरिक सजावट और डिजाइन
  16. कृषि अभियांत्रिकी
  17. फैशन डिजाइनिंग और गारमेंट टेक्नोलॉजी
  18. पेंट टेक्नोलॉजी
  19. प्लास्टिक और मोल्ड प्रौद्योगिकी
  20. कपड़ा डिजाइन
  21. होटल प्रबंधन और खानपान सेवा
  22. विमान रखरखाव
  23. वैमानिकी
  24. आधुनिक कार्यालय प्रबंधन और सचिवीय अभ्यास
  25. पुस्तकालय और सूचना विज्ञान
  26. गृह विज्ञान
  27. सामग्री प्रबंधन
  28. वाणिज्यिक अभ्यास
  29. जन संचार
  30. फार्मेसी

विशिष्ट महिला पॉलिटेक्निक संस्थान

इनके आलावा कुछ डिप्लोमा कोर्स जो सिर्फ महिलाओं के लिए होते है. ये महिला पॉलिटेक्निक इंस्टीटूट्स होते है जो हर पॉलिटेक्निक कॉलेज में होते है जैसे कि सिलाई और बुनाई, कुकिंग, इंटीरियर डिजाइनिंग, फैशन डिजाइनिंग, सिरेमिक पेंटिंग, पॉटरी मेकिंग इत्यादि.

कोर्स की अवधि

इंजीनियरिंग डिप्लोमा 3 सालों का होता है (हर कोर्स की अवधि अलग होती है)

योग्यता

  • इंजीनियरिंग डिप्लोमा क लिए 10वीं पास (मैट्रिकुलेशन) होना ज़रूरी है किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से और अंग्रेजी, विज्ञान और गणित विषय जरुरी होते है.
  • डिप्लोमा, होटल एंड कैटरिंग मैनेजमेंट, फार्मेसी और टूरिज्म मैनेजमेंट में 12वीं पास होना ज़रूरी होता है.
  • आरक्षित श्रेणी वालों के लिए आयु में छूट दी जाती है.

पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रवेश कैसे लें ?

पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन सरकारी या प्राइवेट इंस्टिट्यूट में लिया जा सकता है. हर राज्य में पॉलिटेक्निक में एडमिशन का प्रोसेस अलग होता है. कुछ राज्यों में प्रवेश लेने के लिए एंट्रेंस परीक्षा देना ज़रूरी होता है और कुछ राज्यों में 10वीं के अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट निकाली जाती है जिससे ऊपर रैंक वाले उम्मीदवारों को एडमिशन मिल जाता है. हर पॉलिटेक्निक कॉलेजे हर कोर्स में लिमिटेड सीटें होती है जिनके लिए बहुत उम्मीदवार अप्लाई करते है.

एडमिशन का प्रोसेस

पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट पूरे देश भर में है और हर राज्य का एडमिशन प्रोसेस अलग होता है.

मेरिट के आधार पर एडमिशन

कुछ राज्यों जैसे कि राजस्थान, ओडिशा में पॉलिटेक्निक डिप्लोमा में एडमिशन मेरिट के आधार पर होता है. इन राज्यों में एडमिशन के लिए कोई एंट्रेंस परीक्षा नहीं होता है. इनके प्रोसेस में भी सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होता है. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करना होता है जिसमें सामान्य जानकारी जैसे नाम, पता, बोर्ड का नाम, अंकों की जानकारी देनी होती है. ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए एप्लीकेशन फीस भी भरनी होती है जो हर राज्य में अलग होती है.

फॉर्म सबमिट करने के बाद मेरिट लिस्ट निकाली जाती है. ये मेरिट लिस्ट 10वीं या 12वीं के अंकों पर बनती है. जिन उम्मीदवारों के अंक ज्यादा होते है (रैंक बेसिस) उन्हें काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है जिसमें कुछ डाक्यूमेंट्स सबमिट करने होते है एडमिशन लेने के लिए. इसलिए पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के लिए 10वीं कक्षा में अच्छे अंक लाना जरुरी है.

एंट्रेंस परीक्षा के आधार पर परीक्षा

हर राज्य में पॉलिटेक्निक डिप्लोमा में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले ऑनलाइन पंजीकरण करना होता है. पंजीकरण हर राज्य में अलग प्रकार से होता है और इसके लिए ऑफिसियल वेबसाइट पर अप्लाई करना होता है. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करना होता है जिसमें सामान्य जानकारी जैसे नाम, पता, बोर्ड का नाम, अंकों की जानकारी देनी होती है. ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरने के लिए एप्लीकेशन फीस भी भरनी होती है जो हर राज्य में अलग होती है.

बहुत सारे राज्यों में एंट्रेंस परीक्षा देना होता है एडमिशन के लिए. उन राज्यों में एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करने के बाद ‘एडमिट कार्ड’ ऑनलाइन जारी किया जाता है जो परीक्षा का हॉल टिकट होता है जिसका होना ज़रूरी होता है परीक्षा देने के लिए. यह परीक्षा ऑफलाइन होती है अर्थात लिखित टेस्ट होता है. जो उम्मीदवार ये एंट्रेंस परीक्षा क्लियर करते है (रैंक बेसिस) उनको काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है और एडमिशन दे दिया जाता है. जिन उम्मीदवारों को यह एंट्रेंस परीक्षा क्लियर करना है उनको बहुत अच्छे से पढाई करनी होगी ताकि अच्छे अंक ला सके.

हर राज्य के प्रोसेस के बारे में जानने के लिए नीचे दिए गए टेबल को ध्यान से देखें

पॉलिटेक्निक संस्थान (राज्य)पाठ्यक्रमपात्रताप्रवेश परीक्षा और परीक्षा का मोडतिथियां (2019) संभावितवेबसाइट की लिंक
आंध्र प्रदेश पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंगउम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए और आंध्र प्रदेश या तेलंगाना का स्थायी निवासी या मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा पास होना चाहिए, जिसमें न्यूनतम 35% अंक होंआंध्र प्रदेश पॉलिटेक्निक2019 ( कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019 परीक्षा की तारीख: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
अरुणाचल प्रदेश पॉलिटेक्निकडिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग-डिप्लोमा इन होटल एंड कैटरिंग मैनेजमेंट (12वीं के बाद)उम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए और अरुणाचल प्रदेश के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा पास होना चाहिए(अरुणाचल प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2019)ऑनलाइन फॉर्म: अप्रैल 2019 परीक्षा की तारीख: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
असम पॉलिटेक्निकडिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-मॉडर्न ऑफिस मैनेजमेंट (केवल लड़कियों के लिए)उम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए और असम हायर सेकेंडरी एजुकेशन काउंसिल से 10वीं कक्षा पास या विज्ञान और गणित के साथ समकक्ष परीक्षा को पास करना अनिवार्य है (केवल इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम)(पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा)ऑफ़लाइन परीक्षा 2019ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019 परीक्षा: मईआधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
बिहार पॉलिटेक्निकपॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग (पीई) -पारा-मेडिकल-डेंटल (पीएमडी मैट्रिक स्तर) -पार्ट-टाइम पॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग (पीपीई) -पारा मेडिकल (पीएम इंटरमीडिएट स्तर) कार्यक्रमउम्मीदवारों को भारतीय नागरिक होना चाहिए और मान्यता प्राप्त बोर्ड से बिहार -10वीं कक्षा पास के स्थायी निवासी (पीई, पीएमडी, पीपीई) -12वीं पास मान्यता प्राप्त बोर्ड से (पीएम इंटरमीडिएट स्तर)DCECE 2019 (डिप्लोमा सर्टिफिकेट प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा)ऑनलाइन फॉर्म: अप्रैल 2019 परीक्षा की तारीख: जून 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
दिल्ली पॉलिटेक्निकडिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-मॉडर्न ऑफिस प्रैक्टिस (12वीं के बाद) -डिप्लोमा कोर्स इन फार्मेसी (12वीं के बाद)-उम्मीदवार भारतीय नागरिक-सीबीएसई या किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 35% एग्रीगेट या विज्ञान, गणित और अंग्रेजी में 3.7 सीजीपीए या इंजीनियरिंग और तकनीकी पाठ्यक्रमों के लिए 3.7 सीजीपीए पास होना चाहिए।दिल्ली सीईटी 2019 (दिल्ली कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019परीक्षा तिथि: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए डाउनलोड पीडीएफ
गुजरात पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंगउम्मीदवार को गुजरात का भारतीय नागरिक स्थायी निवासी होना चाहिए-10 वीं कक्षा पास मान्यता प्राप्त बोर्ड सेACPDC-2018 (व्यावसायिक डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश समिति)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019परीक्षा तिथि: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए डाउनलोड पीडीएफ
जम्मू और कश्मीर पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी / आर्किटेक्चर-डिप्लोमा इन टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंटउम्मीदवारों को मान्यता प्राप्त बोर्ड से जम्मू और कश्मीर -10 वीं कक्षा पास भारतीय नागरिक स्थायी निवासी होना चाहिएजम्मू-कश्मीर डिप्लोमा पीईटी 2019 (पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा)ऑनलाइन फॉर्म: जनवरी 2019परीक्षा तिथि: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
झारखंड पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंगउम्मीदवार को झारखंड का भारतीय नागरिक स्थायी निवासी होना चाहिए-10वीं कक्षा न्यूनतम 35% अंकों के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से पासJCECEB PECE 2019 (पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019परीक्षा तिथि: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
कर्नाटक पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंगउम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना चाहिए और कर्नाटक बोर्ड से कर्नाटक -10वीं कक्षा पास के लिए स्थायी निवासी होना चाहिए। विज्ञान और गणित में न्यूनतम 35% अंकों के साथ-साथ कर्नाटक बोर्ड के अलावा अन्य सचिव, तकनीकी शिक्षा बोर्ड द्वारा जारी पात्रता प्रमाण पत्र का उत्पादन करना होगा- बैंगलोर मध्यम छात्रों के लिए 5% आरक्षण हैकर्नाटक पॉलिटेक्निक 2019ऑनलाइन फॉर्म: अप्रैल 2019 परीक्षा की तारीख: जून 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
केरल पॉलिटेक्निकइंजीनियरिंग / प्रौद्योगिकी में डिप्लोमाउम्मीदवार भारतीय नागरिक होने चाहिए और केरल के स्थायी निवासी-एस्पिरेंट्स को एसएसएलसी / टीएचएसएलसी या केरल राज्य या गणित, विज्ञान और अंग्रेजी जैसे विषयों में किसी अन्य मान्यता प्राप्त बोर्ड से समकक्ष परीक्षा होनी चाहिए।कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश 10वीं या 12वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता हैऑनलाइन फॉर्म: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
मध्य प्रदेशडिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-उम्मीदवार भारतीय नागरिक होने चाहिए और मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को 35% विज्ञान और गणित के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं पास होना चाहिए।एमपी पीपीटी 2019(मध्य प्रदेश प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019परीक्षा तिथि: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
महाराष्ट्र पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट-डिप्लोमा इन फार्मेसी-उम्मीदवार भारतीय नागरिक होने चाहिए-उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं पास अंग्रेजी, विज्ञान और गणित अनिवार्य विषयों के रूप में 35% होना चाहिए।MSBTE 2019ऑनलाइन फॉर्म: मई 2019परीक्षा तिथि: जुलाई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
ओडिशा पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी / आर्किटेक्चर-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग-डिप्लोमा इन फिल्म एंड टीवी कोर्सेज (12 वीं के बाद) (ओडिशा के सरकारी, निजी सहायता प्राप्त पॉलिटेक्निक संस्थानों में)-उम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए -आसपास के बीएसई बोर्ड या साइंस और मैथ्स के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं पास होना चाहिए क्योंकि अनिवार्य विषय (माइनिंग को छोड़कर सभी इंजीनियरिंग कोर्स) -अस्पेक्टर्स को बीएसई बोर्ड से 12 वीं पास होना चाहिए या सभी गैर के लिए कोई मान्यता प्राप्त बोर्ड होना चाहिए। संस्कृति को छोड़कर अन्य पाठ्यक्रमओडिशा डीईटी 2019(कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश मेरिट के आधार पर दिया गया है)ऑनलाइन फॉर्म: फरवरी 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
पंजाब पॉलिटेक्निक (पंजाब और चंडीगढ़)इंजीनियरिंग में डिप्लोमा / गैर-इंजीनियरिंग में डिप्लोमाउम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना चाहिए और पंजाब के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को पंजाब बोर्ड से 10 वीं पास करना चाहिए और अनिवार्य विषयों के रूप में विज्ञान और गणित के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास होना चाहिए। प्रवेश के लिए कोई निम्न या ऊपरी आयु सीमा नहीं है।कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश 10 वीं या 12 वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता हैऑनलाइन फॉर्म: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें
राजस्थान पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन नॉन-इंजीनियरिंग-उम्मीदवार्स भारतीय नागरिक होने चाहिए। कोई भी आयु सीमा नहीं है-उम्मीदवारों को राजस्थान बोर्ड से 10 वीं पास होना चाहिए और किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 35% अंकों के साथ विज्ञान और गणित में होना चाहिए।कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश 10 वीं या 12 वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता हैऑनलाइन फॉर्म: जून 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
उत्तर प्रदेश पॉलिटेक्निक-डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (ग्रुप ए) -डिप्लोमा नॉन-इंजीनियरिंग (ग्रुप बी से जे)-ग्राहक भारतीय नागरिक होने चाहिए-न्यूनतम आयु 14 वर्ष है और किसी भी ऊपरी आयु सीमा-उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं या 12 वीं पास नहीं होना चाहिए (पाठ्यक्रम के साथ बदलता है)JEECUP परीक्षा 2019(यूपी की संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद)ऑनलाइन फॉर्म: दिसंबर 2018 परीक्षा दिनांक: अप्रैल 2019पूरी जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइटडाउनलोड पीडीएफ के लिए यहां क्लिक करें
उत्तराखंड पॉलिटेक्निकइंजीनियरिंग में डिप्लोमा / गैर-इंजीनियरिंग में डिप्लोमा-भारतीय नागरिक और उत्तराखंड के स्थायी निवासी-उम्मीदवारों को न्यूनतम 35% अंकों (पाठ्यक्रमों के लिए भिन्न) के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं या 12 वीं उत्तीर्ण होना चाहिए।JEEP 2019 (संयुक्त इंजीनियरिंग परीक्षा पॉलिटेक्निक या यूके पॉलिटेक्निक)ऑनलाइन फॉर्म: जनवरी 2019 परीक्षा दिनांक: मई 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
तमिलनाडु पॉलिटेक्निकडिप्लोमा इन इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी-डिप्लोमा इन कैटरिंग (12 वीं कक्षा)-उम्मीदवार भारतीय नागरिक होना चाहिए-मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं या 12 वीं पास होना चाहिएकोई प्रवेश परीक्षा नहीं है। प्रवेश 10 वीं या 12 वीं कक्षा के अंकों के आधार पर दिया जाता हैऑनलाइन फॉर्म: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
तेलंगाना पॉलिटेक्निकसभी इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम और गैर-इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम-उम्मीदवार भारतीय नागरिक होने चाहिए और तेलंगाना या आंध्र प्रदेश के स्थायी निवासी होना चाहिए। विज्ञान और गणित में न्यूनतम 35% अंकों के साथ मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं कक्षा पास होना चाहिए।TS POLYCET 2019 (तेलंगाना राज्य पॉलिटेक्निक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)ऑनलाइन फॉर्म: मार्च 2019 परीक्षा की तारीख: अप्रैल 2019आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करेंपूरी जानकारी के लिए पीडीएफ डाउनलोड करें
पश्चिम बंगाल
महत्वपूर्ण बातें प्रवेश परीक्षा के लिए
  • उम्मीदवारों को एप्लीकेशन फॉर्म में सब जानकारी डालनी होती है. अगर फॉर्म अधूरा या कोई गलत जानकारी डाली जाती है तो उसे निरस्त कर दिया जाता है.
  • प्रवेश पत्र का प्रिंट आउट लेना जरूरी होता है प्रवेश परीक्षा देने के लिए. बिना इसके आप परीक्षा नहीं दे सकते है.
  • परिणाम का प्रिंट आउट लेना जरुरी होता है काउंसलिंग के लिए.
  • काउंसलिंग के लिए सारे दस्तावेज होने जरूरी होते है.

एंट्रेंस परीक्षा 2019 का पैटर्न

एंट्रेंस एग्जाम हर राज्य में ऑफलाइन ही लिया जाता है. ये एग्जाम ऑब्जेक्टिव (बहुविकल्पी) होता है जिसमें हर प्रश्न के 4 विकल्प दिए जाते है जिसमें से एक उत्तर सही होता है. कुछ राज्यों में नेगेटिव मार्किंग भी की जाती है. नेगेटिव मार्किंग का मतलब होता है की गलत उत्तर देने पर अंक काटे जाते है. डिप्लोमा कोर्स के एंट्रेंस में विज्ञान और गणित के प्रश्न पूछे जाते है.

कौन-कौनसे दस्तावेज चाहिए होते है प्रवेश लेने के लिए?

  • 10वीं और 12वीं की मार्क शीट
  • 10वीं और 12वीं के पास होने का प्रमाण पत्र
  • स्कूल छोड़ने/स्थानांतरण प्रमाण पत्र
  • प्रवास प्रमाण पत्र
  • चरित्र प्रमाण पत्र
  • स्थायी निवास प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र (केवल आरक्षित श्रेणियों के लिए)
  • प्रवेश परीक्षा के लिए जारी किया गया एडमिट कार्ड
  • प्रवेश परीक्षा का स्कोर कार्ड

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स के बाद करियर

  • लेटरल एंट्री इन बी.टेक (डायरेक्ट एडमिशन)

अगर पॉलिटेक्निक करने के बाद आगे पढाई करना चाहते है तो पॉलिटेक्निक पूरी करने बाद उसी फील्ड में डिग्री प्राप्त करी जा सकती है. जैसे कि अगर आपने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में पॉलिटेक्निक डिप्लोमा लिया है तो आप बी.टेक में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग ब्रांच में डायरेक्ट द्वितीय साल में एडमिशन ले सकते है. पॉलिटेक्निक से डिप्लोमा करने का एक ये बहुत बढ़ा फायदा है कि आप सीधे डिग्री प्राप्त कर सकते है. इसके बाद आप चाहे तो एम टेक भी कर सकते है. डिग्री होने से जॉब के अवसर और सैलरी का स्कोप बढ़ जाता है.

  • नौकरियां (जॉब के अवसर)

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद सरकारी और प्राइवेट जॉब दोनों का स्कोप होता है. पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद प्राइवेट कंपनियां जैसे कि विप्रो, महिंद्रा, टाटा पॉलिटेक्निक इंस्टीटूट्स में कैंडिडेट्स को प्लेसमेंट्स प्रदान करती है. इन कंपनियों में 10वीं के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करने के बाद डायरेक्ट जॉब मिल सकती है. जबकि 12वीं करने के बाद इन कंपनियों में जॉब लेना मुश्किल होता है. इसके अलावा बहुत सारी सरकारी जॉब के विकल्प भी मिल जाते है. बहुत सारी सरकारी कंपनियां भी पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट के कैंडिडेट्स को जॉब प्लेसमेंट देती है.

जॉब प्रोफाइल

पॉलिटेक्निक इंजीनियर

  • प्रोडक्ट डेवलपर,
  • सिविल इंजीनियर,
  • सहायक डिजाइनर,
  • विश्लेषक,
  • जूनियर इंजीनियर,
  • कार्यकारी अधिकारी
  • कॉलेज में लैब असिस्टेंट

प्रारंभिक वेतन : 10,000 से 25,000 रुपए प्रति माह

शीर्ष सरकारी क्षेत्र की नौकरियां (PSU और सरकारी विभाग)

शीर्ष सरकारी जॉब जो पॉलिटेक्निक विद्यार्थी को रिक्रूट करते है:

  • भारतीय रेलवे
  • भारतीय सेना
  • BHEL
  • भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण
  • पावर ग्रिड
  • बिजली विभाग
  • GAIL – गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड
  • ओएनजीसी – तेल और प्राकृतिक गैस निगम
  • डीआरडीओ – रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन
  • BHEL – भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड
  • एनटीपीसी – नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन
  • सार्वजनिक कार्य विभाग
  • बीएसएनएल – भारत संचार निगम लिमिटेड
  • सिंचाई विभाग
  • इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट एजेंसी
  • एनएसएसओ – राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन
  • IPCL – इंडियन पेट्रो केमिकल्स लिमिटेड

इंडियन रेलवे में एएलपी, टेकनीशियन, ग्रुप डी पोस्ट के लिए 10वीं पास/आईटीआई पास/पोलिटेक्निक पास वाले अप्लाई कर सकते है।

शीर्ष निजी क्षेत्र की कंपनियां
  • एयरलाइंस – गोएयर, इंडिगो, स्पाइसजेट, जेट एयरवेज, आदि।
  • कंस्ट्रक्शन फर्म – यूनिटेक, डीएलएफ, जेपी एसोसिएटेड, जीएमआर इंफ्रा, मितास, आदि।
  • कम्युनिकेशन फर्म – भारती एयरटेल, रिलायंस कम्युनिकेशंस, आइडिया सेलुलर, आदि।
  • कंप्यूटर इंजीनियरिंग फर्म – टीसीएस, एचसीएल, विप्रो, पोलारिस, आदि।
  • ऑटोमोबाइल – मारुति सुजुकी, टोयोटा, टाटा मोटर्स, महिंद्रा, बजाज ऑटो, आदि।
  • इलेक्ट्रिकल / पावर फर्म – टाटा पावर, बीएसईएस, सीमेंस, एलएंडटी, आदि।
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग फर्म – हिंदुस्तान यूनिलीवर, एसीसी लिमिटेड, वोल्टास, आदि।

फार्मेसी में डिप्लोमा में नौकरी के विकल्प

  • अस्पताल में फार्मासिस्ट, क्लिनिक
  • फार्मा कंपनियों के आरएंडडी या अन्य विभागों में काम करना.

प्रारंभिक वेतन : 15,000 से 25,000 रुपए प्रति माह

होटल प्रबंधन में नौकरी के विकल्प डिप्लोमा करने वालों के लिए

  • होटल में प्लेसमेंट

प्रारंभिक वेतन: 10,000 – 20,000 रुपए प्रति माह

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स स्किल दिखाने के लिए और एक स्किल आधारित करियर बनाने के लिए बहुत अच्छा विकल्प है. 10वीं या 12वीं के बाद पॉलिटेक्निक कोर्स करके एक अच्छा करियर बनाया जा सकता है.

About Post Author

Rahul

<strong>I'm Rahul</strong> Founder of <strong>careerjankari.in</strong> , Career jankari is a free Hub for knowledge about different fields of education and current affair news . We first started as a local magazine in 2013 and in 2019 we started our online journey to severe the world with the most and unbiased news & educational Blog .
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Rahul

I'm Rahul Founder of careerjankari.in , Career jankari is a free Hub for knowledge about different fields of education and current affair news . We first started as a local magazine in 2013 and in 2019 we started our online journey to severe the world with the most and unbiased news & educational Blog .

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply