सरदार वल्लभ भाई पटेल के अनमोल विचार (Sardar Vallabhbhai Patel  ) –

सरदार वल्लभ भाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel  ) –

सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे उनका जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नडियाद गुजरात में हुआ था उनके पिता एक किसान थे, सरदार वल्लभ भाई पटेल ने अपनी बैरिस्टर की पढ़ाई लंदन जाकर पूरी की उसके बाद वह अहमदाबाद वकालत करने लगे जहां पर महात्मा गांधी के विचारों से बहुत प्रेरित हुए और भारत की स्वतंत्रता के आंदोलन में भाग लिया.

सरदार वल्लभ भाई पटेल की एक ही इच्छा थी भारत एक अच्छा उत्पादक देश बने हमारे देश में कोई भी भूखा ना रहे कोई भी अन्न के लिए आंसू न बहाए.

2- किसी भी इंसान की अच्छाई उसके मार्ग में बाधक बनती है इसीलिए उसे अपनी आंखों को क्रोध से लाल होने देना चाहिए और अन्याय का मजबूत हाथों से सामना करना चाहिए.!

3- सरदार वल्लभ भाई पटेल जी कहते थे चर्चित से कहो भारत को बचाने से पहले इंग्लैंड को बचाएं.!

4- शक्ति के अभाव में विश्वास किसी भी काम का नहीं है परंतु विश्वास और शक्ति दोनों किसी महान काम को करने के लिए जरूरी होती हैं.!

5- सरदार वल्लभ भाई पटेल कहते थे अक्सर जब मैं बच्चों के साथ होता हूं तो उनके साथ हंसी मजाक करता हूं जब तक किसी भी इंसान के अंदर बच्चों वाली आदतें रहती हैं, जब तक वह अंधकारमई छाया से दूर रहता है.!

6- यदि किन्ही कारणों से हमारी करोड़ों की दौलत चली जाए या फिर हमारा पूरा जीवन बलिदान हो जाए तो भी हमें ईश्वर में विश्वास और उसके सत्य पर विश्वास रख कर खुश रहना चाहिए.!

7- कोई भी अधिकार मनुष्य को तब तक अंधा बनाए रखता है जब तक मनुष्य उस अधिकार को प्राप्त करने हेतु मूल्य न चुका दें.!

8- आत्मा को कोई भी गोली या कोई भी लाठी नहीं मार सकती दिल के अंदर इस आत्मा को कोई हथियार नहीं छू सकता.!

9- जब कोई परेशानी से भरा समय आता है तो उसमें कायर बहाना ढूंढते हैं जबकि बहादुर व्यक्ति रास्ता खोजता है.!

10- कायरता का बोझ पड़ोसियों पर रहता है अतः हमें मजबूत बनना चाहिए क्योंकि इससे हमारे पड़ोसियों का काम आसान हो जाता है.!

11- कोशिश करना प्रयत्न करना हमारा फर्ज होता है अगर हम अपने फर्ज को पूरा ना करें तो हम ईश्वर के गुनहगार बनते हैं.!

12- सरदार वल्लभभाई पटेल अपने विचारों के माध्यम से बताते थे, गरीबों की सेवा करना ईश्वर की सेवा करना होता है.!

13- जितना भी दुख किसी के भाग्य में लिखा होता है वह उसे भोगना ही पड़ता है उसके अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है हमें इसकी चिंता नहीं करनी चाहिए.!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *