बैचलर ऑफ़ फार्मेसी B.Pharma career job exam eligibility

  1.  

फार्मेसी क्या हैं ? 

फार्मेसी का सीधा सीधा सम्बन्ध दवाई, औषधि, मेडिसिन, ड्रग आदि से हैं | फार्मेसी में दवाई बनाने की विधि, किस रोग के लिए कौनसी मेडिसिन हैं, मेडिसिन की मात्र, कौन-कौनसी मेडिसिन साथ ले कौनसी साथ नहीं ले इस तरहे के टेस्ट करना आदि कार्य फार्मेसी के अंतर्गत आते हैं |

अगर आप फार्मेसी में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको B.Pharm, M.Pharm जैसे डिग्री कौर्स या कुछ अन्य डिप्लोमा करना होता हैं आज हम बात कर रहे हैं B.Pharm के बारे में |

बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (बी फार्मा) क्या है :-B.Pharma

बी.फार्मा 12th के बाद किया जाने वाला 4 वर्षीय ग्रेजुएशन प्रोग्राम हैं | इस कौर्स में pharmacy से जुडी हर जानकारी जैसे दवाइयां बनाना उनको test करना आदि इस तरह की जानकारी प्रदान की जाती हैं | यह कौर्स उन लोगों के लिए होता हैं जो मेडिसिन में रूचि रखते हैं या बायो केमीक फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं | 4 वर्ष के इस प्रोग्राम को पूरा करके एक pharmacy में बेहतर भविष्य बनाया जा सकता हैं| यदि आप भी इस क्षेत्र में रूचि रखते हैं तो इस पर विचार ज़रूर करें|

 फार्मेसी (B.Pharm) करने के फायदे ;-
जब आप 12th के बाद बी.फार्मा कर लेते हैं तो आपको उसके कई सारे फायदे हैं जो निम्न लिखित हैं |

B.Pharm करने के बाद आप केमिस्ट के तौर पर जॉब कर सकते हैं|
अगर आप खुद का मेडिकल स्टोर खोलना चाहें तो आपको उसके लिए लाइसेंस मिल सकता है |
फार्मासिस्ट के रूप में कॉलेज में काम कर सकते हैं |
सरकारी एवं गैर सरकारी विभागों के रिसर्च विभाग में कार्य कर सकते हैं |
B.Pharm एक स्नातक डिग्री हैं जो आपको हर जगह काम आएगी |
इसके आलावा आप निम्न विभागों में कार्य कर सकते हैं |

रिसर्च एजेंसी
हेल्थ सेंटर
मेडिकल स्टोर
मेडिसिन कंपनी, आदि

बी.फार्मा करने के लिए क्या शैक्षणिक योग्यता :-
12th साइंस (बायोलॉजी) से उत्तीर्ण छात्र B.Pharm के लिए आवेदन कर सकते हैं | कुछ कॉलेज में मेरिट के आधार पर चयन होता है जबकि कुछ college में बी.फार्मा के लिए entrance exam (प्रवेश परिक्षा), group discussion एवं counselling के आधार पर भी प्रवेश मिलता हैं| बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (बी फार्मा) क्या है कैसे करें पूरी जानकारी

BITSAT, WBJEE, TSEMACET जैसी एग्जाम देकर बी.फार्मा में प्रवेश पाया जा सकता हैं |
कहाँ से करें बी.फार्मा, प्रमुख कॉलेज
देश में कई कॉलेज हैं जहाँ से आप बी.फार्मा कर सकते हैं उन्हीं में से कुछ प्रमुख कॉलेज निचे दिए जा रहे हैं |

इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी – (ICT), मुम्बई
यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, चंडीगढ़
गोवा कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी – गोवा
गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी – (GGSIPU), न्यू दिल्ली
एलऍम कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी – (LMCP), अहमदाबद
पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे
जेएसएस कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, द नीलगिरिस, तमिल नाडु
एएल – अमीन कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, बैंगलोर
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी – (BHU IIT), वाराणसी
मद्रास मेडिकल कॉलेज – (MMC), चेन्नई
मनिपाल कॉलेज ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, मनिपाल

बी.फार्मा के बाद क्या करें ?
बी.फार्मा के बाद आपके सामने कई विकल्प मौजूद होते हैं | आप B.Pharm करने के बाद ऊपर बताये विभिन्न क्षेत्रों में जॉब कर सकते हैं या अपना मेडिकल स्टोर भी ओपन कर सकते हैं | इसके आलावा आप अपनी पढ़ाई जारी रखते हुए M.Pharm भी कर सकते हैं | M.Pharm की entrance exam clear करने वाले छात्रों के लिए scholarship का प्रावधान भी होता हैं !

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *