फैशन डिजाइनिंग – कोर्स , फीस, जाॅब Fashion Designing course, institute, fee’s,job,Skill (NIFT INSTITUTE )

Fashion Technology ( Fashion Designing) NIFT INSTITUTE :-

आज के समय हर व्यक्ति अपने लुक को लेकर इतना सजग हो गया है कि वह हरदम कुछ ऐसा पहनने की चाह रखता है, जो न सिर्फ दूसरों से अलग हो, बल्कि आपको ट्रैंडी भी दिखाएं। आपकी इस चाहत को पूरा करने का काम करते हैं फैशन डिजाइनर। फैशन डिजाइनर अपने अनोखे आइडिया के बूते ही हर साल मार्केट में कुछ नया लेकर आते हैं। अगर आपके पास भी कपड़े की समझ के साथ−साथ कुछ नया व हटकर करने की चाह है तो आप बतौर फैशन डिजाइनर अपना उज्ज्वल भविष्य बना सकते हैं।

फैशन डिजाइनिंग कया हैं?

फैशन डिजाइनिंग जटिल डिजाइन द्वारा कपड़े और सामान की सुंदरता को बढ़ाने की कला है। फैशन डिजाइनिंग आजकल के छात्रों के बीच सबसे पंसदीदा कैरियर विकल्प में से एक बन गया है। भारत में विश्व स्तर पर डिजाइनिंग के बारे में जागरूकता को बढावा देने के लिए फैशन और डिजाइनिंग के अनेक संस्थान हैं। इस क्षेत्र में अच्छी पहचान रखने वाले कॉलेज हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन(National Institute of Design), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन एंड टेक्नोलॉजी(national Institute of fashion and technology), आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन एंड डिजाइन(Army Institute of Fashion and Design).

उपलबध कोर्स(Course Offered) :-
ये संस्थान विभिन्न स्तरों पर कोर्स प्रदान करवाते हैं: Certificate, अंडरग्रेजुएट(Undergraduate), पोस्टग्रेजुएट(postgraduate) और डिप्लोमा(diploma), जबकि कुछ संस्थान योग्यता (merits) के आधार पर और कुछ प्रवेश परीक्षा द्वारा छात्रों का चयन करते हैं। नीचे कुछ महत्वपूर्ण फैशन डिजाइन प्रवेश परीक्षाओं(fashion designing enterence exams) की सूचि दी गई है:-

NIFT Entrance Test :
Pearl Academy of Fashion Entrance Test (PAF)
Common Entrance Examination for Design (CEED)
NID Entrance Test
पात्रता की शर्तें(Elegibility criteria for fashion designing):

  1. स्नातक(Undergraduate) स्तर की परीक्षा के लिए भाग्यर्थी 12वीं पास होना चाहिए और स्नातकोत्तर (postgraduate) की परीक्षा के लिए भाग्यर्थी स्नातक(graduate) पास होना चाहिए।
  2. अंतिम वर्ष का उम्मीदवार भी प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है।
  3. आयु सीमा : फैशन डिजाइनिंग के लिए आयु सीमा हर संस्थान नीति (policy) के ऊपर निर्भर करती है।
    पेपर पैटर्न(paper pattern):
  4. फैशन डिजाइन प्रवेश परीक्षा भाग्यर्थी के ज्ञान, कौशल और चुने हुए प्रोग्राम में योग्यता की जांच के लिए ली जाती है। यह परीक्षा लिखित होती है।
  5. चुने हुए भाग्यार्थी को सिचुएशनल टेस्ट, ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। हर संस्थान का चुनने का तरीका अलग होता है।
  6. प्रवेश परीक्षा दो भागों में आयोजित की जाती है।
  • सामान्य योग्यता परीक्षा (जीएटी)
  • क्रिएटिव एविलिटी टेस्ट (सीएटी)
    General Ability Test (GAT) for (B. Des and M. Des) programs will consist of 5 sections:

Quantitative Ability
Communication Ability
English Comprehension
Analytical Ability
General Knowledge and Current Affairs
इस भाग में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिन्हें 2 घंटे में हल करना होता है।

General Ability Test (GAT) for (M.F Tech, B.F Tech and MFM) consists of 5 sections:

Quantitative Ability
Communication Ability and English Comprehension
Analytical and Logical Ability
General Knowledge and Current Affairs
Case Study
इस भाग में भी 150 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिन्हें तीन घंटे में हल करना होता है।

Creative ability test. (CAT) :-
इसमें अभ्यर्थी के डिजाइन की योग्यता, अवलोकन की शकित और कौशल को जांचा जाता है। चित्रों के लिए रंगों का चुनाव भी अभ्यर्थियों की रचनात्मक क्षमता का मूल्यांकन करता है। यह परीक्षा स्नातक में प्रवेश के लिए है और स्नातकोतर के लिए अभ्यर्थी को ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू देना पड़ता है।

तैयारी के लिए टिप्स (Preparation Tips) :-

  1. भाग्यार्थीको प्रवेश परीक्षा के पैटर्न के बारे में स्पष्ट रूप से पूरी जानकारी होनी चाहिए।
  2. आपको परीक्षा की तैयारी के लिए समयसारिणी बना लेनी चाहिए।
  3. सबसे पहले अपने सारे पाठ्यक्रम को समय पर पूरा करने का प्रयास करें।
  4. आजकल बहुत से सैंपल पेपर इंटरनेट पर उपलबध है। उन्हें इकट्ठा करे और हल करने का प्रयास करें। इससे आपको विभिन्न प्रकार के प्रश्नों को समझने में मदद मिलेगी और इससे आपको प्रश्नों का उत्तर करने की क्षमता भी बढ़ेगी।
  5. अभ्यास ही सफलता की पूंजी है। आपके आसपास जो भी दिखता है उसका चित्र बनाने का प्रयास करें।
  6. विभिन्न समाचार पत्रों, पत्रिकाओं और ऑनलाइन साइटों के माध्यम से तैयारी करने का प्रयास करें।
  7. विभिन्न विज्ञापनों, पोस्टरों, बैनरों आदि से चित्र बनाने का आईडिया लें।
  8. अभ्यास करते समय अपने रबड़ को अपने आप से दूर रखें, यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करेगा।
  9. चित्र बनाते समय मानव आकृति के चेहरे, मानव आकृति और मानव संगठनों को महत्वता दें।
  10. विभिन्न तरीके से शबदों को लिखने का अभ्यास करें इससे आपको पोस्टर, बैनर का डिजाइन बनाने में मदद मिलेगी।
  11. चित्र बनाते समय पहले हल्के रंग में बनाए, उसे बाद उसे गाढ़ा कर दें जब इसके बारे में आश्वस्त हो जाते हैं। यह आपको समय बचाने में मदद करेगा.!

एक Successful Fashion Designer बनने के लिए आपको Drawing, Sewing, Designing, Fashion Industry आदि की जानकारी होनी चाहिए। आपको Market में Fashion के बारे में पता होना चाहिए। इस Post में मैं आपको Fashion Designer बनने से सम्बंधित Information दे रहा हूँ। जिसके बाद आप नीचे बताये किसी प्रतिष्ठित संस्थान से Course कर इसे अपना Profession बना सकते हैं। यदि आपको Textile , Pattern, Colours, Texture आदि की अच्छी Knowledge हो तो Fashion Designing Career को आप बेहिचक अपना सकते हैं।

फैशन डिज़ाइनिंग मे Colours के Combination और कपड़े के आधार पर उसकी बुनाई का बड़ा महत्त्व है। फैशन कभी भी स्थाई नही होता है, बदलते समय में इसमें Changes होते रहते हैं। इसमें मौसम के अनुसार भी बदलाव होते रहते हैं। उदाहरण के लिए सर्दी के मौसम मे आपको उसी के अनुरूप रंग और फैब्रिक देखने को मिलेगा, और गर्मियों में गर्मी केअनुरूप।

Course करने के बाद कैसे बन सकता है करियर :-
अब हम आपको बताते हैं इस फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा पूर्ण करने के बाद आप कौन कौन से कार्य कर सकते हैं –

किसी कपड़ों की कंपनी या फैशन हाउस में फैशन डिज़ाइनर का कार्य कर सकते हैं,
अपने द्वारा बनाए और डिजाइन किए गए कपड़ों की प्रदर्शनी और बिक्री कर सकते हैं,
आप स्वयं द्वारा बनाए गए और डिजाइन के कपड़ों का आयात और निर्यात कर सकते हैं,
अपना बुटीक खोल सकते हैं,
फिल्म, TV या थिएटर आदि के लिए Costume Designer का कार्य कर सकते हैं,
आप फ्रीलांस अलग-अलग कंपनियों के लिए डिजाइनिंग का काम कर सकते हैं,
या आप हॉबी क्लासेज शुरू कर सकते हैं।


Fashion Designing Course Fees –
फैशन डिजाइनिंग के कोर्स की फीस इस बात पर depend करती है कि आप कौनसा Programme चुनते हैं तथा किस Institute अथवा College में दाखिला लेते हैं। वैसे इसकी फीस लगभग 50,000 रुपये वार्षिक है। Institute व Course के according यह घट-बढ़ सकती है।

प्रमुख संस्थान (NIFT Institute ) :-
नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली।
नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद।
सोफिया पॉलीटेक्निक, मुंबई।
आईआईटीसी, मुंबई।
जेडी इंस्टीटयूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, विभिन्न केन्द्र।
पर्ल फैशन अकादमी, नई दिल्ली, मुंबई, जयपुर।
लेडी इरविन कॉलेज, नई दिल्ली।

सैलरी (Salary ) : –

एक अच्छे फैशन डिज़ाइनर का बहुत ज़्यादा डिमांड है। यदि आप में क़ाबलियत है और आप मेहनती हैं तो आप इस क्षेत्र मे बहुत शोहरत और पैसा दोनो कमा सकते हैं। एक फ्रेशर के रूप में जब आप फैशन डिज़ाइनर की जॉब शुरू करते हैं तो आपको 20,000 से 25,000 रुपय प्रति महीने की जॉब मिल सकती है. तथा आपके अनुभव पर आपकी सैलरी बढ़ जाती है जो कुछ वर्षों में ही 50,000 – 100000 रुपय प्रति महीने तक पहुँच सकती है। आप बहुत टॉप लेवेल तक पहुँच सकते हैं साथ दूसरी कंपनियो के भी ऑफर आने लगेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *