पीएचडी (Phd) क्या है ? PhD कैसे करे , फीस, योग्यता पुरी जानकारी

Phd course full details , phd kaise kare , phd karne ke liye qualification , phd ke liye qualification in hindi , phd kaise kare in hindi , phd ki fees kitni hai , phd full form , phd course details , phd course list , phd course fees , phd course eligibility , phd course duration in india , phd course , Phd

PhD course full Details

पीएचडी (PhD) का मतलब होता है , डॉक्टर ऑफ़ फिलॉसफी (Doctor of Philosophy) , जिसे संक्षिप्त में पीएचडी कहा जाता है, इस कोर्स को करने के बाद आप के नाम के आगे डॉ (Dr.) शब्द सम्मिलित हो जाता है | यह एक डाक्टरल डिग्री (Doctoral Degree) है !!!

पीएचडी(Ph.D) की डिग्री किसी university में professor या फ़िर किसी फील्ड में Research में करियर बनाने के लिये काफ़ी ज़रूरी होती है। Ph.D की डिग्री Universities द्वारा किसी subject में research करने पर डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित करने के लिए दिया जाता है, जिससे सम्मानित होने के बाद आपके नाम के आगे Doctor लग जायेगा, और आप अपनी फील्ड में expert कहलायेंगे !!!

पीएचडी करने के लिए योग्यता :- ( PHD ELIGIBILITY )

पीएचडी में दाखिला लेने के लिए आपके ग्रेजुएशन (BA/BCOM/BSC) पूरी होनी चाहिए।
ग्रेजुएशन के साथ में मास्टर डिग्री भी पूरी होनी चाहिए।
PHD में Admission के लिए आपको पहले Entrance Test Pass करना होता हैं जिसके लिए apply करने के लिए आपके minimum 55% मार्क्स होने चाहिए।
अगर आप engineering में phd करना चाहते हैं तो आपका एक valid Gate Score होना चाहिए।

PHD कैसे करें :-

  1. 12th पास करे – सबसे पहले आपको 12 दिन आस पास करनी होगी क्योंकि किसी भी तरह की डिग्री कोर्स को पूरा करने के लिए हमें 12 क्लास पास करना बहुत ही जरूरी है 12वीं क्लास में चाहे हम किसी भी सब्जेक्ट से पास हो और आगे जाकर 12वीं क्लास में हमें कम से कम 60% अंक प्राप्त करने होंगे !
  2. ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई करें –12वीं क्लास पास करते हैं आपको ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई कर देना चाहिए जिस भी सिर्फ एक में आपकी रुचि है. उसी समय से आपको ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई करना चाहिए और उसके लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होगा और एंट्रेंस एग्जाम करके आप अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री की पढ़ाई कर सकते हैं !
  3. मास्टर डिग्री की पढ़ाई पूरी करें – जैसे ही आप अपने ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर लेते हैं उसके बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन यानी मास्टर की डिग्री के लिए अप्लाई करना चाहिए लेकिन ध्यान रहे जिस फील्ड या सब्जेक्ट में आपने आपने बैचलर डिग्री पूरी की है उसी सब्जेक्ट में 1 डिग्री पूरी करें तभी आपको PHD में फायदा होगा और कोशिश करें कि मास्टर डिग्री और बैचलर डिग्री में आपके कम से कम 60% अंक जरूर आएं ताकि आगे एंट्रेंस एग्जाम के लिए कोई दिक्कत ना हो !
  4. UGC NET टेस्ट के लिए अप्लाई करें – जैसे ही आप की पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी हो जाती है. तो आपको पीएचडी करने के लिए UGC NET के एग्जाम को देना होता है. और इसे क्लियर करने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है. पहले यह एग्जाम नहीं होता था लेकिन अब पीएचडी करने के लिए इस एग्जाम को क्लियर करना अनिवार्य कर दिया है !!!

PHD एंट्रेंस एग्जाम :-


जैसे ही नेट एग्जाम क्लियर कर लेते हैं उसके बाद में आप पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के लिए योग्य हो जाते हैं ! अब आपको अपने हिसाब से जिस भी कॉलेज में आप को पीएचडी डिग्री की पढ़ाई करनी है ! उस कॉलेज के एंट्रेंस एग्जाम दे सकते हैं l हर यूनिवर्सिटी अपने-अपने एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट PHD के लिए तो आप को इस एग्जाम को क्लियर करना होगा तभी आप आगे एडमिशन ले पाएंगे !!!

पीएचडी कितने साल की होती है ? ( PhD duration ) –

पीएचडी कोर्स इंडिया में 4 या फिर 5 साल का होता है. Canada में 4 years का Europe में countries like Germany, France और UK, इसके लिए 3 years लगते है !

इंडिया में 4 साल में पीएचडी कम्पलीट हो जाती है, लेकिन कई लोगो को इससे ज्यादा समय भी लग जाता है, उसके रिसर्च और गाइड पर इसका समय भी निर्भर हो सकता है ।।।।

विषय कैसे choose करे ?

आप मन पसंद विषय से पीएचडी कर सकते है | ये आप पर आधारित है!

  1. पीएचडी विषय हिंदी
  2. पीएचडी विषय अंग्रेजी
  3. पीएचडी विषय होम साइंस
  4. पीएचडी विषय एग्रीकल्चर
  5. पीएचडी विषय इतिहास
  6. पीएचडी विषय फाइन आर्टस
  7. पीएचडी विषय सर्जरी
  8. पीएचडी विषय जियोग्राफी
  9. पीएचडी विषय जियोलॉजी
  10. पीएचडी विषय एकाउंटिंग
  11. पीएचडी विषय बायोकेमिस्ट्री
  12. पीएचडी विषय फार्मेसी

PhD Ki Fees Kitni Hai :-

PhD course की फीस निर्धारित नहीं है , यह सभी University की अलग – अलग होती है । जिसमे Government University की फीस Private University से कम होती है ।।।

ph.D टॉप यूनिवर्सिटी :-

  • JNU DELHI
  • Guru Nanak Dev University Amritsar
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ जेनेटिक इंजीनियरिंग कोलकाता Institute of Genetic Engineering
  • अमिती यूनिवर्सिटी नोइडा Amity university
  • जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी jawahar lal nehru university
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस बंगलोर indian institute of science
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नॉएडा
  • टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च
  • इंस्टिट्यूट ऑफ जेनेटिक इंजीनियरिंग बडू – कोलकाता
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलोर
  • केसीजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजि, चेन्नई
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी
  • इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्निकल एंड प्रोफेशनल स्टडीज, कोलकाता
  • जामिआ मिल्लिआ इस्लामिया यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • चैन्नई मैथमेटिकल इंस्टिट्यूट
  • इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट (आईएसआई
  • बी. एच यू वाराणसी

PhD ke फायदे ( Advantage of PhD ) :-

  • पीएचडी करने के बाद आप किसी भी कॉलेज में एक प्रोफेसर के रूप में नियुक्त हो सकते है ।
  • पीएचडी करने के बाद आप के नाम के आगे डॉ० (Dr) लग जाता है जो आपके स्टेटस को और बढ़ा देता है ।
  • पीएचडी करने के पश्चात आप अपने विषय पर रिसर्च या एनालिसिस कर सकते है ।।।
  • पीएचडी किये हुए व्यक्ति को क्रिएटर ऑफ़ इनफार्मेशन भी कहा जाता है ।।।
  • शिक्षा के क्षेत्र में यह सर्वोच्च डिग्री है, इसको करने के पश्चात आप उस विषय के विशेषज्ञ कहे जायेंगे ।
  • पीएचडी करने के पश्चात आप अपने क्षेत्र में गलत और सही का निर्णय कर सकते है ।।
  • पीएचडी एक बड़ी डिग्री है , जिसको करने के बाद आप अपने क्षेत्र में किसी भी बड़े पद के लिए आवेदन कर सकते है ।।।

PhD क्यों करें ?

  • कुछ नया achevie करने के लिए
  • नया सीखने के लिए
  • किसी विषय में रिसर्च करके के उसका पूरा ज्ञान प्राप्त करने के लिए
  • पीएचडी पूरा करने के बाद नाम के आगे डॉ. लगा सकते है।
  • पीएचडी पूरा करने के बाद कई सारी फील्ड में जॉब प्राप्त कर सकते है।
  • कुछ लोग इंडिया में नहीं बल्कि इंडिया के बाहर पीएचडी के लिए जाते है. ताकि और भी बेहतर ज्ञान हासिल किया जाए ।।

इसी तरह की और भी ज्यादा जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहे –

कैरियर जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *