पायलट ( Pilot ) कैसे बने ? योग्यता, प्रशिक्षण और वेतन की पूरी जानकारी

पायलट ( Pilot ) कैसे बने ? हर बच्चे का एक सपना होता हैं की काश वो आसमान में उड़ सके। ये सपना पूरा करने के 2 तरीके हैं या तो हवाई जहाज का टिकेट खरीद कर उसमे सवारी की जाए या फिर खुद से प्लेन उड़ाया जाए।

जो लोग चाहते हैं वो प्लान उडाए, उसके लिए उन्हें पायलट बनना पड़ता हैं। पायलट बनने से ना सिर्फ प्लेन उड़ाने का आपका सपना पूरा होता हैं बल्कि आप इससे अपना प्रोफेशन बनाकर एक अच्छी खासी सैलरी भी पा सकते हैं।

पायलट :- ये वो व्यक्ति होता है जो हवा में उड़ने वाले बिमान या हवाई जहाज को उड़ाने में मदद करता है या उसको खुद उडाता है अगर सीधे शब्दों में बोलू तो वो व्यक्ति की Aeroplane या Helicopter को उडाता है !!!

एविएशन इंडस्ट्री में पायलट की नौकरी युवाओं को सबसे ज्‍यादा पसंद है. इसकी वजह यह भी है कि इस फील्‍ड में न केवल खूब पैसा है, बल्कि रोमांच भी भरपूर है. जहां तक सैलॅरी की बात है तो एक कॉमर्शियल पायलट की औसत सैलॅरी एक लाख रुपये से शुरू होकर साढ़े चार लाख प्रति माह तक हो सकती है !!!

पायलट कैसे बने ?


आधुनिक दिन के पायलटों को कई कौशल की आवश्यकता होती है गणित और भौतिकी में प्रवीणता, बेहतर शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य, सतर्क दिमाग और संकटों के लिए तुरंत जवाब देने की क्षमता, एक पायलट के लिए आवश्यक कुछ प्रतिभाएं हैं। ये कौशल सभी पायलटों पर अपवाद के बिना लागू होते हैं !!!

पायलट बनने के लिये शैक्षिक योग्यता :-


अगर आप पायलट बनना चाहते है तो आपमें कुछ आवश्यक योग्यताये होनी चाहिये है जिसकी जानकारी आप निचे देख सकते है –

  • पायलट बनने के लिये उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए !
  • पायलट बनने के लिये आपकी इंग्लिश अच्छी होनी चाहिए
  • पायलट बनने के लिये आप 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स विषय के साथ पास होने चाहिए.
  • पायलट बनने के लिये आप 12वीं क्लास कम से कम 50% अंको के साथ पास होने चाहिए.
  • पायलट बनने के लिये आपको इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषा का काफी अच्छे से ज्ञान होना चाहिए.
  • पायलट बनने के लिये आप शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होने चाहिए
  • पायलट बनने के लिये आपकी उम्र कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए
  • पायलट बनने के लिये आपकी नजर अच्छी होनी चाहिए
  • पायलट बनने के लिये आपकी ऊंचाई 5 फिट से कम नहीं होनी चाहिए !!!

ये भी जरूर पढ़ें :-

Air hostess कोर्स , स्कोप, करियर, नौकरियां और सैलरी की जानकारी

पायलटों के प्रकार :-

हेलीकाप्टर पायलट :-

जो नागरिक या सैन्य हेलीकाप्टरों को उड़ाते हैं
लड़ाकू / लड़ाकू पायलट: पायलटों को सुपरसोनिक गति पर लड़ाकू विमानों को उड़ाने के लिए प्रशिक्षित किया गया।


कमर्शियल पायलट :-

यात्री विमान उड़ने वाले अनुभवी पायलट
स्पोर्ट्स / एम्फ़िबियन पायलट: पायलटों को जल पर हाइड्रोप्लाएंस ले जाने और उतरने में सक्षम।


फ्रेट्रीटर (Freighter) पायलट :-

क्रू जो विशाल मालवाहक विमान उड़ाते हैं
Balloonists पायलट : शौकिया लोग जो गर्म हवा के गुब्बारे का उपयोग करते हुए आकाश में चढ़ते हैं।


निगरानी (सर्विलांस) पायलट :-

अत्यंत कुशल सैन्य पायलट जो चरम सीमाओं पर उड़ते हैं।
हॉबी एविएटर्स (Hobby aviators): जो लोग अपने छोटे और प्रोपेलर विमानों को खुद और पायलट करते हैं !


टेस्ट पायलट :-

बेहद कुशल डेयरडेविल्स जो विमान के नए मॉडल का परीक्षण करते हैं !


अंतरिक्ष पायलट :-

आमतौर पर भूतपूर्व सैन्य पायलटों को अंतरिक्ष शटल खींचने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।

PILOT बनने के लिए ( ENTRENCE exam ) :-

पायलट ट्रेनिंग कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको एक entrence test pass करना होता हैं जिसमे एक Writter Test, Meical Examination और एक Interview होता हैं। एक बात आपको ध्यान रखनी होगी Pilot बनने के लिए Caurse में दाखिला लेने के लिए आपको 12th class में minimum 50% marks होने जरुरी हैं !!!

Pilot बनने में खर्च :-


एक पायलट बनने के लिए आपको कम से कम 20लाख से लेकर 25 लाख तक का खर्चा आता है। क्योकि ट्रेनिंग के दौरान आप जितनी बार भी प्लेन उड़ाओगे आपको उसके हिसाब से पैसे देने होते है । इसके अलावा दूसरे और भी खर्चे होते है !!!

पायलट बनने का लाइसेंस :-


SPL ( Student Pilot Licence )
PPL ( Private Pilot Licence )
CPL ( Commercial Pilot Licence )

आपको इन सभी लाइसेंस को पाने के लिए Flying Club में प्रवेश लेना होगा और यह सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होना चाहिए. इसको Directorate General of Civil Aviation (DGCA) कहते है. इसमें आपको कुछ विषय में Exams Clear करने होते है इसके बाद आपको SPL का Certificate मिलता है.
आपको इसके बाद PPL Certificate को प्राप्त करना होगा. इसको प्राप्त करने के लिए करीब 60 घंटे तक उड़ान भरना जरूरी होता है उड़ान भी कई प्रकार की होती है जैसे कि कई बार अकेले तो कई बार Trainer के साथ विमान उड़ाया जाता है. इसके बाद PPL Exam दिया जा सकता है ।।।

PPL Exam के लिये उम्र सीमा कम से कम 17 साल और 12 Class पास होने के साथ ही Armed Forces Central Medical Establishment से Medical Certificate होना जरूरी है. PPL के बाद CPL का License मिलता है. CPL के License के लिए 250 घंटे की उड़ान पूरी करनी होती है जिसमें PPL के 60 घंटे भी जुड़े होते हैं.
इसके बाद दिल्ली में एक Medical Test होता है इसके साथ ही एक और Exam भी देना होता है CPL मिलने के बाद ही आप Professional Pilot के तौर पर काम कर सकते हैं !!!

SPL के लिए अप्लाई करें :-

12वीं पास कर लेने के बाद अब आपको SPL यानी कि Student Pilot License लेना पड़ेगा। इसके लिए आपको DGCA संस्था द्वारा मान्यता प्राप्त किसी कॉलेज में एडमिशन लेना पड़ेगा। इसके लिए आपको एक्जाम भी देना पड़ेगा। आपको इन एग्जाम को पास करना होगा। इन एग्जाम्स के बाद भी कई टेस्ट से आपको गुजारना पड़ेगा। यह सभी चीजें आपको कंप्लीट करना होगा !

इसके बाद अब आपका मेडिकल टेस्ट होगा। इस टेस्ट को भी आपको क्लियर करना होगा। इसके अलावा यहां पर आपका बैंक एकाउंट रिकार्ड भी देखा जाएगा कि आपने कहीं बैंक से ज्यादा लोन नहीं ना लिया है यह सब चीजें कंप्लीट होने के बाद आपका SPL बना दिया जाता है !!!

PPL और CPL के लिए अप्लाई करें :-

SPL मिल जाने के बाद आपको PPL यानि की private pilot licensee के लिए अप्लाई करना होगा। इसमें आपको 60 घंटों की ट्रेनिंग दी जाती है। और फिर आपको CPL के लिए यानी कि Comercial Pilot license के लिए अप्लाई करना होगा !

इसमें 250 घंटों की ट्रेनिंग दी जाती है। साथ में आपको मेडिकल टेस्ट और परीक्षाओं से होकर गुजरना पड़ता है।इसके बाद आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है। और आप एक अच्छे पायलट भी बन जाते हैं!!!

PPL (Private Pilot License) :-


SPL लेने के बाद अपने क्लब में ट्रेनिंग पूरा करने के बाद आपको PPL लेने की जरूरत होती है, इसके लिए भी आपको कई एग्जाम पास करने होते है जिसे CEO (central examination Organisation) organise करता है।

Aviation Meterology- (Oxford or From the ground up)
Air Regulations (RK Bali)
Air Navigation (Oxford)
Technical Specific (Single engine and multi engine)
Technical General

DGCA rule :-


DGCA का फुल फॉर्म होता है Directorate General of Civil Aviation, जिसे भारत सरकार की Ministry of Civil Aviation नियंत्रित करती है। सरकार की यह निकाय भारत में वायु यातायात से सम्बंधित सभी पहलुओं पर निगरानी रखता है और उसे रेगुलेट करता है।


Step 1: सबसे पहले आपको अपने 12th के डॉक्यूमेंट को DGCA से सतयापित करना होता है, इसके लिए आप अपने बोर्ड को भी रिक्वेस्ट कर सकते है ताकि आपका बोर्ड डायरेक्टली DGCA से आपके डॉक्यूमेंट को से वेरीफाई करा दे।


Step 2: इसके बाद आपको DGCA को अपना Class 2 Medical रिपोर्ट भेजना होता है जिसके आधार पर DGCA आपको एक फाइल नंबर देता है और DGCA में आपके सारे रिकॉर्ड को इसी फाइल नंबर से मेन्टेन किया जाता है। DGCA ने बहुत से प्राइवेट डॉक्टर को Class 2 Medical के लिए परमिशन दे रखा है जहा से आप अपना क्लास 2 मेडिकल बड़े से आसानी से करा सकते है।
डॉक्टर्स की लिस्ट

http://dgca.nic.in/medical/class2-ind.htm


Step 3: Class 2 Medical और फाइल नंबर के बेसिस पर अब आप Class 1 मेडिकल के लिए अप्लाई कर सकते है, बता दे की क्लास 1 मेडिकल ज्यादा स्ट्रिक्ट होता है।
क्लास वन मेडिकल सेण्टर और रूल्स

http://dgca.nic.in/medical/c1exam-ind.htm


Step 4: DGCA के exam में appear होने के लिए आपके पास कंप्यूटर नंबर (computer number) का होना आवश्यक है, ऐसे में CEO (central examination Organisation) के वेबसाइट से कंप्यूटर नंबर के लिए apply कर सकते है।
यहाँ से करे apply: http://udaan.nic.in:8080/udaan/


Step 5: Computer Number के लिए apply करने के बाद आपको पुलिस वेरिफिकेशन करने की जरूरत होती है, आप अपने area के कमिश्नर के यहाँ पर पुलिस वारीफिकेशन के लिए आवेदन कर सकते है !!!

Institute in India :-

  • Indira Gandhi Rashtriya Uran Akademi, Bareli
  • Government Flying Training School, Bangalore
  • Ahmedabad Aviation and Aeronautics, Ahmedabad
  • Rajiv Gandhi Aviation Academy, Secunderabad
  • All India Institute of Aeronautics, (AIIA), Dehradun
  • Jamshedpur Co-operative Flying Club Ltd, Jamshedpur
  • Indian Aviation Academy, Mumbai
  • Coimbatore Flying Club, Coimbatore
  • Government Aviation Training Institute, Bhubaneswar
  • West Bengal Flying Training Institute, Kolkata
  • एशियाटिक इंटरनेशनल एविएशन एकेडमी, इंदौर
  • ब्लू डायमंड एविएशन, पुणे
  • एक्यूमेन स्कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, दिल्ली
  • इंटरनेशनल स्कूल ऑफ एविएशन, आईएसए, नई दिल्ली
  • इंडियन एविएशन एकेडमी, मुंबई

Salary :-

Pilot की Salary उनकी Rank के अनुसार होती है जो कि Indian Air Force Pilot की Salary में जो Commercial Airlines चलाते हैं उनमें प्रथम श्रेणी के अधिकारी के रूप में शुरू होने वाले Pilot आमतौर पर रु। 80,000 से 150,000 Per Month कमा लेते हैं। इसके अलावा Flying Commanders को 350,000 रुपये से अधिक Salary दी जाती है। वहीं Private Pilot भी हर महीने का 1 Lakh तक तो कमा ही लेते हैं !!!

One Comment on “पायलट ( Pilot ) कैसे बने ? योग्यता, प्रशिक्षण और वेतन की पूरी जानकारी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *