दसवी के बाद करियर विकल्प

 

दसवी के बाद करियर विकल्प –

हैल्लो दोस्तों Careerjankari.in में आपका स्वागत है, आज हम बात करेंगे दसवी के बाद करियर विकल्प के बारे में | दसवी के बाद किस तरह का कोर्स कर सकते है और क्या क्या स्कोप होते है दसवी के बाद जिससे एक बेहतर भविष्य बनाया जा सके | आपमें से अधिकतर छात्र और 10th पास कर चुके हैं और आगे क्या करना है इसी बात को लेकर परेशान हैं तो चलिए आज मैं आप सभी को बताना चाहूँगा कि इस पोस्ट को पड़ने के बाद आपके सारे Confusion दूर हो जायेंगे और आप एक सही निर्णय ले सकेंगे |

10thके बाद क्या करें –
हमारे देश के सभी राज्यों में 10th तक लगभग एक सामान शिक्षा दी जाती है जिसमें 10th के बाद छात्रों को अपनी पसंद के अनुसार करियर चुनने का विकल्प दिया जाता है. , तो में आप सभी से यही कहूँगा की पहले अपनी रूचि पहचानो अगर आपको लगता है कि आपकी रूचि इन्टरनेट, कंप्यूटर. तकनीक में है तो आपको उसी के अनुसार करियर चुनना होगा और अगर आपकी रूचि मेडिकल, एकाउंटिंग, बैंकिंग में है तो आपको उसके अनुसार करियर का चुनाव करना पड़ेगा अन्यथा आगे बड़ी दिक्कत आ सकती है.
दसवीं पास 11th में कौनसा विषय लें :-


विज्ञान संकाय
: – 10 वी के बाद यदि आप विज्ञान विषय लेते है तो आपको 2 विकल्प मिलते है पहला जीवविज्ञान और दूसरा गणित इन दोनों में से आप कोई भी एक विषय चुन सकते है| अगर आप मेडिकल लाइन में जाना चाहते है तो जीवविज्ञान और अगर आप तकनीक क्षेत्र में जाना चाहते है तो आपको गणित विषय चुनना होगा| इन दोनों विषयों के साथ साथ आपको भोतिक विज्ञान (Physics) रसायनशास्त्र (Chemistry) अनिवार्य रूप से पड़ना पड़ेंगे | विज्ञान संकाय थोड़ा कठीन जरुर है किन्तु सबसे ज्यादा संभावनाए भी इसी में है , हो सकता हिया आपको 11वी एवं 12वी में आपको इसके लिए कोचिंग की जरुरत पड़े |

कॉमर्स संकाय :- अगर आप १०वीं के बाद अपना करियर लेखाबंदी या बैंकिंग जैसे क्षेत्रों में बनाना चाहते है तो कॉमर्स संकाय आपके लिए ही है कॉमर्स लेकर आप लेखाबंदी, अर्थशास्त्र, जैसे विषय पड़ते है जिसमे आगे बहुत संभावनाए है अगर आप चाहे तो 11वी – 12वी में कॉमर्स, कंप्यूटर एप्लीकेशन, टैक्स, ऑनर्स के साथ साथ भी कर सकते है जिससे आपको १२वी के बाद BBA, BCA, और फिर MBA जैसे प्रोफेशनल कोर्स करने में कोई दिक्कत नहीं आती है|



कला संकाय  :- 10वी के बाद कला (Art) भी एक अच्छा विषय है आर्ट लेने पर आपको इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, राजनीती विज्ञान जैसे दमदार विषयों को पड़ने का मौका मिलता है, अगर आप प्रसासनिक सेवाओं में जाना चाहते है तो आर्ट आपके लिए बिलकुल सही साबित हो सकता है कुछ लोगों में यह गलत धारणा है की 12th आर्ट से या BA करने वाले की कोई पहचान नहीं होती है किन्तु ऐसा नहीं है आप आर्ट लेकर भी बहुत अच्छी नौकरी पा सकते हैं और अर्थशास्त्र, राजनीती जैसे क्षेत्रों में करियर बना सकते है|


व्यवसायिक पाठ्यक्रम 10 के बाद :-


कंप्यूटर हार्डवेयर एवं नेटवर्किंग : – इस कंप्यूटर के युग में यह एक सही विकल्प है इस फील्ड में आप कंप्यूटर रिपेयर और नेटवर्किंग से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करते है. जो एक अच्छी नौकरी दिलाने में सहायक हो सकती है |


होटल मैनेजमेंट : – यदि आपको इस क्षेत्र में करियर बनाना है तो आप 10वी के बाद होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कर सकते है यह एक बहुत ही अच्छा निर्णय हो सकता है जिसमे अपार संभावनाए है |

इंजीनियरिंग डिप्लोमा : – कई सारे संसथान एवं पोलोटेक्निक कॉलेज 10th के बाद इंजीनियरिंग डिप्लोमा करवाते हैं इनको करने के बाद आपको डायरेक्ट BE में प्रवेश मिल सकता है या आप इस क्षेत्र में नौकरी भी कर सकते हैं |

स्टेनोग्राफी एवं टाइपिंग : – आप १०वी के बाद स्टेनोग्राफी एवं टाइपिंग में भी डिप्लोमा कर सकते है कुछ कुछ प्रदेशों में 11th एवं 12th में भी स्टेनोग्राफी एक विषय के रूप में चुन सकते है, स्टेनो करके टाइपिंग या स्टेनो की जॉब आसानी से प्राप्त की जा सकती है, न्यायलय और अन्य सरकारी दफ्तरों में इस तरह की विज्ञप्ति निकलती रहती है | दसवी के बाद करियर विकल्प

आई टी आई (औधोगिक प्रसिक्षण संस्था) : – अगर आप 10 वी के बाद कोई ऐसा कोर्स करना चाहते है जिससे आपको जल्दी और अच्छी जॉब मिल जाये तो आप आईटीआई कर सकते हो आईटीआई आप बहुत से विषयों में कर सकते है जैसे इलेक्ट्रीशियन, वेल्डर, फिटर, कारपेंटर, मेकिनिक, स्टेनो, कंप्यूटर आदि |


10वी के बाद सरकारी नौकरी
दसवी के बाद करियर विकल्प :-

जी हाँ आप यदि 10th. के बाद सीधे नौकरी करना चाहते है तो आपके लिए भारतीय सेना, पुलिस, वनविभाग, रेलवे जैसे कई सरकारी विभाग हैं जो आपको 10वी. के बाद इनमे काम का मौका देते हैं. | इसके लिए आपको समय समय पर निकले वाली भर्तियों जानकारी रखना होगी. |

 

One Comment on “दसवी के बाद करियर विकल्प”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *