डॉ एपीजे अब्‍दुल कलाम मेमोरियल – रामेश्वरम तमिलनाडु

Dr. A.P.J Abdul Kalam Memorial 🙏🙏🙏🙏🙏 , Rameswaram, ( Tamil Nadu )

‘मिसाइल मैन’’ के नाम से प्रख्यात पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की दूसरी पुण्यतिथि के मौके पर यहां पीकारंबू में करोड़ों रूपये की लागत से निर्मित उनके स्मारक का उद्घाटन किया गया। DRDO (डीआरडीओ) द्वारा बनाये गये इस स्मारक के अंदर डाॅ. कलाम की ‘समाधि’ है। डाॅ. कलाम लंबे समय तक विभिन्न पदों पर डीआरडीओ के साथ जुड़े रहे थे।

इस स्मारक को बनाने में 15 करोड़ रुपये की लागत आई है और इसके लिये कलाम के गांव पीकारंबू में तमिलनाडु सरकार ने जमीन आवंटित की थी। यहां डाॅ. कलाम की लकड़ी से बनी एक प्रतिमा भी है, जिसमें वे वीणा बजाते हुये दिख रहे हैं। पूर्व राष्ट्रपति इस वाद्य यंत्र को बजाने में निपुण थे।

स्मारक में दिवंगत वैज्ञानिक की 900 पेंटिग्स और 200 दुर्लभ तस्वीरें हैं। वह 2002 से 2007 तक राष्ट्रपति रहे थे। स्मारक में कांसे की बनी कलाम की एक प्रतिमा भी लगाई गयी है। स्मारक के प्रवेश द्वार का डिजाइन नयी दिल्ली के इंडिया गेट की तर्ज पर तैयार किया गया है। स्मारक के पीछे के हिस्से को राष्ट्रपति भवन के मॉडल पर बनाया गया है।


विविधता में एकता’ विषय के साथ तैयार किये गये इस स्मारक में कलाम के ‘उद्धरणों’ के अलावा एक वैज्ञानिक और देश के राष्ट्रपति के तौर पर उनकी तस्वीरों को लगाया गया है।

डॉ. कलाम पूरी जिंदगी शिक्षा को समर्पित किए

लगभग 40 विश्वविद्यालयों द्वारा मानद डॉक्टरेट की उपाधि, पद्मभूषण और पद्मविभूषण व भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारतरत्न’ से सम्मानित होने वाले पूर्व राष्ट्रपति डॉ। एपीजे। अब्दुल कलाम बाल एवं युवा पीढ़ी के प्रेरणास्रोत थे। डॉ कलाम की पूरी जिंदगी शिक्षा को समर्पित थी। बच्चों से रूबरू होना, स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में जाना व छात्र-छात्राओं से प्रेरणादायक बातें करना, डॉ। कलाम को बेहद पसंद था। उनका पूरा जीवन अनुभव और ज्ञान से भरा था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *